किसान आंदोलन में योगराज सिंह क्या करने आये थे और क्या करके चले गये

भाई जब मामला लोगों की संवेदनशीलता से जुड़ा हुआ हो तो वहां अपने दिमाग की गंदगी को फैलाने की क्या जरूरत।
किसान आंदोलन में योगराज सिंह क्या करने आये थे और क्या करके चले गये
योगराज सिंहgoogle image

पंजाब और हरियाणा के किसान दिल्ली के बॉर्डर पर जाकर सरकार से तीन कृषि बिलो को वापस करने की मांग कर रहे है, ऐसे वक्त में उन लोगों को भी मौका मिल गया है जिनका कभी वक्त था "सनद रहे वक्त था, लेकिन अब नही, क्योंकि वक्त की एक फितरत है वह आता जाता रहता है। दरअसल मामला पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज युवराज सिंह के क्रिकेटर और एक्टर पिता योगराज सिंह से जुड़ा हुआ है, उन्होंने किसानों के बीच पहुँच कर अपनी जुबान से गंदगी फैलाई है

आये थे हरि भजन को ओटन लगे कपास:

कहावत यूं ही नही लिखी जाती, इनका मतलब होता है, रहस्य होता है, दरअसल फ़िल्म एक्टर और पूर्व में क्रिकेटर योगराज सिंह किसानों की तरफ से सरकार को चेताने और किसानों की पैरवी करने के लिए गए थे लेकिन मामला कुछ अलग ही हो गया। योगराज सिंह किसानों की बात करते-करते कब सिक्खों से हिन्दुओं और हिन्दुओं की महिलाओं के ऊपर गाली-गालौच पर उतर आए इसका पता ही नही चला।

हिन्दुओं के खिलाफ उगला जहर:

दरअसल जिस वक्त योगराज सिंह किसानों के बीच पहुंचकर किसानों की आवाज को अपनी जुबान से बुलंद कर रहे थे उसी दौरान उनकी जुबान से हिन्दू महिलाओं को लेकर अभद्र भाषाएं निकलने लगी। हालांकि ये बात इस मामले में कितनी प्राषांगिक है वो तो योगराज सिंह ही जाने लेकिन इंटरनेट पर इसका खासा विरोध हो रहा है। अकेले ट्वीटर पर योगराज सिंह को अरेस्ट करने के लिए बाकायदा #ArrestYograjSingh हैशटैग चलाया जा रहा है जिसे लोग लगातार प्रयोग कर रहे है।

लोगों द्वारा सोशल मीडिया पर योगराज सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू की तस्वीर को लेकर यह आरोप लगा रहे है कि यह सब राजनीतिक साजिश है जिसके बहाने लोगों की भावनाओं को भड़काया जा रहा है।

कहीं सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का हथकंडा तो नही: इस मामले पर लोगों द्वारा यह शंका भी जाहिर की जा रही है कि योगराज इस बयान को पहले से तैयार करके लाये थे ताकि इसे सोशल मीडिया पर प्रसारित करके लाइमलाइट हासिल की जा सके। लोगों ने आरोप लगाये की एक तरफ जहां उनके बेटे युवराज सिंह का कैरियर अपने पड़ाव पर है वहीँ अब योगराज सिंह की क्रिकेट में कोई पूंछ नही। फिल्मों और राजनीतिक अवसर तलाशने के चक्कर मे योगराज का यह पब्लिसिटी स्टंट तो नही, जाहिर सी बात है कि इस वाकये के बाद योगराज को कानूनी पचड़े में फंसना पड़ सकता है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com