उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
बरकतउल्ला विश्वविद्यालय   
बरकतउल्ला विश्वविद्यालय   |image source: google
नजरिया

“आदर्श बहू” बनने के लिए लें बरकतुल्ला यूनिवर्सिटी में एडमिशन 

अगली अकादमिक सेशन से शुरू होगा लड़कियों को एक आदर्श बहू बनने में सहायता करने वाला कोर्स 

Sneha Sinha

Sneha Sinha

बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में "आदर्श बहू" कोर्स की असफलता के बाद बरकतुल्ला यूनिवर्सिटी भोपाल ने तीन महीने का "आदर्श बहू" , नामक शॉर्ट- टर्म कोर्स अगले अकादमिक सेशन से शुरू करने का सोचा है जिसके माध्यम से लड़कियों को एक समझदार और निपुण बहू बनने मदद मिलेगी। जैसा की आप सब जानते हैं एक जगह से दूसरे जगह अगर आप सामान्य तौर पर भी प्रवास करते है या हॉस्टल में आपके कमरे में कोई नई लड़की आती है तो आपको माहौल को समझने में काफी समय लगता है तो आप यह तो समझ ही सकते है की अपना घर छोड़कर एक नए घर में जाना, वहाँ की नियमितता का वरन करना , घर की दैनिक विधि एवं गतिविधियों को केवल समझना ही नहीं पड़ता आपको हर एक घरवाले के मनमुताबिक खरे उतरना पड़ता है।

एक शादी को निभाना एक कप चाय बनाने जितना आसान नहीं होता आपके अंदर इतनी धीरज होनी चाहिए जिसके आधार पर आप हर एक काम को पूर्ण रूप से निभा पायें और किसी को कुछ कहने का मौका न दे। आजकल की लड़कियां अपनी पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान देने के कारण घर के कामों में रूचि नहीं ले पाती हैं और हमारे देश की सोच के अनुसार लड़की सिर्फ रसोई में ही अच्छी लगती है, के कारण शादी के बाद कई लड़कियों को अनेकों- अनेक असुविद्याएँ उठानी पड़ती है और आजकल डाइवोर्स के केसेस भी आये दिन सामने आते रहते है इन्ही बातों को ध्यान में रखते हुए बरकतुल्ला यूनिवर्सिटी ने यह कोर्स अगले साल से जारी करने का निर्णय लिया है।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के रिपोर्ट के अनुसार उप - कुलपति प्रोफेसर डी सी गुप्ता ने बताया की इस पाठ्यक्रम को महत्ता देने के पीछे हमारा अभिप्राय यह है की ,"हम लड़कियों को जागरूक करे जिससे उनके लिए आसान हो की वो नए पर्यावरण में आसानी से घुल मिल पायें, एक विश्वविद्यालय की जिम्मेदारी उसके समाज के प्रति भी होती है, हम सिर्फ सामान्य शिक्षा तक सीमित नहीं होना चाहते। हम ऐसी दुल्हनें बनाना चाहते हैं जो परिवारों को बरक़रार रखे। "