Yes Bank Crises
Yes Bank Crises|Google
टॉप न्यूज़

Yes Bank के खाताधारक अपना ही पैसा निकालने के लिए जूझ रहे हैं, देश में एकबार फिर नोटेबंदी जैसे हालात?

नकदी की कमी से जूझ रहे यस बैंक को लेकर आरबीआई ने पैसे निकालने की सीमा निर्धारित कर दी है।

Abhishek

Abhishek

Summary

यस बैंक के ज़्यदातर खाताधारक शहरी क्षेत्र से हैं, ऐसे में देश के कई बड़े शहरों में यस बैंक के ग्राहकों के लिए नोटबंदी जैसे हालात पैदा हो गए हैं। सबसे ज्यादा परेशानी व्यपारी वर्ग के ग्राहकों के लिए है क्योंकि 50000 रुपये महीने में ये क्या करेंगे।

अब यस बैंक के खाताधारक एक महीने में मात्र 50,000 रुपये ही निकाल सकेंगे, जिसकी वजह से सेक्टर 27 अट्टा मार्केट स्थित यस बैंक के बाहर खाताधारकों की लंबी कतार लगी हुई है। ग्रेटर नोएडा में एटीएम के बाहर लगे लोगों ने कहा, "मोदी जी ने दोबारा से सबको लाइन में लगा दिया। मैं दफ्तर की छुट्टी करके बैठा हूं अपने पैसे के लिए। त्यौहार आ रहा है, अपना पैसा नहीं मिल रहा।"

कई ग्राहकों ने कहा, "ग्रेटर नोएडा वाली ब्रांच से आया हूं, सूरजपुर ब्रांच, कासना ब्रांच और सेक्टर 124 स्थित ब्रांच से भगा दिया गया और कहा गया कि कैश नहीं है।"

नोएडा के रहने वाले आलोक कुमार ने कहा, "दो घंटे से लाइन में लगा हूं और दो बैंक की ब्रांच ने मना कर दिया है कि पैसा नहीं है।"

उन्होंने कहा कि यह ब्रांच साढ़े चार बजे बंद हो जाती है, लेकिन यस बैंक के स्टाफ ने कहा है कि जो लोग लाइन में लगे हैं, उन्हें पैसा दिया जाएगा।

नोएडा की तरह बेंगलुरू में यस बैंक के ग्राहकों को नकदी निकलवाने के लिए मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

बेंगलुरू में यस बैंक के सभी एटीएम में नकदी खत्म हो चुकी है। यस बैंक सूत्रों ने उदय बुलेटिन को बताया, "बेंगलुरू में हमारी 37 शाखाएं हैं और कर्नाटक में 74 शाखाएं हैं। हम खाताधारकों के लिए अपनी प्रतिबद्धता का सम्मान करते हैं।"

दिनभर बैंक और एटीएम पर ग्राहकों की लाइन लगी रही। मगर अधिकतर ग्राहकों को निराशा ही हाथ लगी, क्योंकि भीड़ इतनी थी कि कुछ घंटों के अंदर ही नकदी समाप्त हो गई।

रिजर्व बैंक ने गुरुवार को सरकार से मशविरा करने के बाद यस बैंक के निदेशक मंडल को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया। वहीं, बैंक के ग्राहकों को भी 50,000 रुपये मासिक निकासी की ही इजाजत दी गई है।

हुबली में यस बैंक के काफी ग्राहक नकदी निकालने के लिए क्लब रोड शाखा पहुंचे, जहां लंबी कतारें लग गई। इस शाखा से नकदी निकलवाने के लिए लोगों को लाइन में लगकर लंबा इंतजार करना पड़ा।

ग्राहक बैंक अधिकारियों से यह मांग करते दिखे कि उन्हें बताया जाए कि यस बैंक के संकट का समाधान कब होगा, क्योंकि वे चेक और निकासी के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

खाताधारकों ने बताया कि एटीएम काम नहीं कर रहे हैं और अन्य बैंकों के एटीएम में उनका डेबिट कार्ड काम नहीं कर रहा है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com