संसद भवन 
संसद भवन |Google
टॉप न्यूज़

11 दिसंबर से शुरू हो रहा संसद का शीतकालीन सत्र, हंगामेदार रहने के आसार

कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दल एक जुट हो कर राफेल मुद्दा, कृषि एवं किसानों की समस्याओं, सीबीआई में उच्च पदों पर बैठे अधिकारियों के बीच झगड़े जैसे मुद्दे उठाकर सरकार को घेरने का प्रयास करेंगे । 

Uday Bulletin

Uday Bulletin

नई दिल्ली: आगामी 11 दिसंबर को पांच राज्यों में चल रहे विधानसभा चुनाव (Assembly election 2018) का परिणाम जारी किया जाने वाला है और साथ ही 11 दिसंबर को संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने वाला, शीतकालीन सत्र के हंगामेदार रहने की आशंका जताई जा रही है। केंद्र सरकार पर दबाव होगा की वह हंगामों के बीच तीन तलाक, उपभोक्ता संरक्षण, चिट फंड, डीएनए, गैर कानूनी गतिविधियां रोकथाम जैसे विधेयकों सहित करीब तीन दर्जन विधेयक पारित करें। लेकिन यह करना आसान नहीं होगा। सरकार को 20 नये विधेयक पास करने हैं शेष, सदन में पहले ही पेश किये जा चुके विधेयक हैं ।

संसद का शीतकालीन सत्र ऐसे समय में शुरू हो रहा है जब पांच राज्यों ... मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना मिजोरम के विधानसभा चुनाव (Assembly election 2018) के नतीजे आने वाले हैं । इनमें मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी कांग्रेस के लिये महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं । समझा जाता है कि संसद सत्र पर चुनाव परिणाम का प्रभाव देखने को मिल सकता है ।

नये विधेयक जिनपर हो सकता है हंगामा

  • तीन तलाक संबंधी विधेयक
  • कंपनी संशोधन विधेयक
  • भारतीय चिकित्सा परिषद संशोधन विधेयक
  • भारतीय औषधि प्रणाली के लिये राष्ट्रीय आयोग संबंधी विधेयक
  • राष्ट्रीय होम्योपैथी आयोग विधेयक
  • राष्ट्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा आयोग विधेयक
  • राष्ट्रीय विमान संशोधन विधेयक
  • जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक संशोधन विधेयक
  • सूचना प्रौद्योगिकी संशोधन विधेयक
  • राष्ट्रीय जांच एजेंसी संशोधन विधेयक
  • गैर कानूनी गतिविधि रोकथाम संशोधन विधेयक
  • बांध सुरक्षा विधेयक
  • एनसीईआरटी विधेयक आदि शामिल हैं ।

सदन में पहले से पारित विधेयक, जिनपर फिर से होनी है चर्चा

  • सार्वजनिक परिसर अनधिकृत कब्जा हटाने संबंधी विधेयक
  • दंत चिकित्सक संशोधन विधेयक
  • उपभोक्ता संरक्षण विधेयक
  • नयी दिल्ली अंतरराष्ट्रीय पंचाट केंद्र विधेयक
  • भारतीय हवाई अड्डा आर्थिक नियामक प्राधिकार संशोधन विधेयक
  • किशोर वय :बाल देखरेख एवं संरक्षण: संशोधन विधेयक
  • डीएनए प्रौद्योगिकी :उपभोक्ता एवं व्यवहार: नियामक विधेयक
  • मानवाधिकार संरक्षण संशोधन विधेयक
  • ट्रांसजेंडर अधिकार संरक्षण विधेयक
  • किराये की कोख संबंधी नियामक विधेयक
  • चिटफंड संशोधन विधेयक
  • बिना नियमन की जमा योजना को प्रतिबंधित करने संबंधी विधेयक आदि शामिल है ।

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने 11 दिसंबर से शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन सर्वदलीय बैठक बुलाई है। राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने एक दिन पहले 10 दिसंबर को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इन बैठकों का उद्देश्य सदन का कामकाज सुचारु रूप से चलाने के लिए सर्वसम्मति बनाना है।

आपको बता दें भारतीय जनता पार्टी के सांसद राकेश सिन्हा और मनोज तिवारी संसद के शीतकालीन सत्र में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए निजी सदस्य विधेयक लाने की घोषणा की है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com