विरोध प्रदर्शन के बीच शामिल हुए सिमी के आतंकी, खुफिया इनपुट के बाद दिल्ली में सतर्कता

सिमी जैसे आतंकी संगठन देश का माहौल बिगाडने की जुगत में, आखिर कौन कर रहा इनको सपोर्ट?
विरोध प्रदर्शन के बीच शामिल हुए सिमी के आतंकी, खुफिया इनपुट के बाद दिल्ली में सतर्कता
SIMI Behind CAA Protest Google 
Summary

अभी जामिया विश्वविद्यालय और सलेमपुर के प्रदर्शन के घाव मिटे भी नहीं थे कि दिल्ली में विरोध प्रदर्शन में तेजी के आसार नजर आने लगे है और साथ ही अब सुरक्षा एजेंसियों ने यह बताकर स्थानीय पुलिस के कान खड़े कर दिए है कि प्रदर्शनकारियों के बीच प्रतिबंधित संगठन सिमी के आतंकी कोई बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते है।

देशभर में सीएबी को लेकर विरोध प्रदर्शन चालू है जिसमें देशभर से आगजनी और सार्वजनिक सरकारी संपत्ति को लेकर नष्ट करने के संबंध में तमाम जानकरियां संज्ञान में आ रही है, इस के बाद आज के दिन भी दिल्ली समेत देश भर के अनेक राज्यों से विरोध प्रदर्शन में तेजी लाने की शंकाएं प्राप्त हो रही है।

दिल्ली में खुल सकते है लगभग चालीस मोर्चे :

दिल्ली में आज के दिन करीब चालीस जगह विरोध प्रदर्शन होने की संभावना पायी जा रही है जिसको लेकर स्थानीय पुलिस बेहद सतर्कता बरत रही है। स्थानीय पुलिस अधिकारी ने बताया कि आज के दिन एक साँझी विरासत नामक संगठन ने दिल्ली के करीब चालीस जगहों पर प्रदर्शन करने का निश्चय किया है और ऐसे में पुलिस के लिए इनको किसी प्रकार की समस्या से बचाना बेहद चुनौती पूर्ण साबित होगा।

बाहरी लोगों ने बढ़ाई है समस्या :

दरअसल दिल्ली पुलिस की असल समस्या दिल्ली के प्रदर्शनकारी नहीं बल्कि आस-पास के जगहों से आये हुए लोग है जो प्रदर्शन के दौरान आगजनी और हिंसा जैसी वारदाते अंजाम देकर रफूचक्कर हो जाते है। और पुलिस बमुश्किल ही उनकी शिनाख्त कर के उन्हें पकड़ पाती है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पिछले दिन आस-पास की जगहों जैसे मेवात, नुहू जैसी जगहों से करीब 25000 की संख्या से भी ज्यादा लोग दिल्ली में घुस कर विरोध प्रदर्शन कर चुके है जिनके द्वारा हिंसात्मक प्रदर्शन को अंजाम दिया जा सकता है।

सिमी के लोग कर सकते है उत्पात :

चूंकि देश की जनता इस वक्त अफवाहों की टॉनिक पर जिंदा और सिमी के उग्रवादियों का इस मौके पर आना आग में घी का काम कर सकता है। पुलिस यह आशंका व्यक्त कर रही है कि शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों के बीच इस तरह के असामाजिक तत्व किसी बड़ी आतंकी घटना को भी अंजाम दे सकते है, जिससे पुलिस बेहद ऐतिहात बरत रही है।

क्या हो सकते है बचाव ?

एक तो भीड़ भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचे, और प्रदर्शन से दूरी बनाए, और अगर जाना बेहद जरूरी है तो सावधानी बरते किसी प्रकार भी हिंसा में हाँथ न आजमाए और हिंसा करने वालो की पहचान पुलिस के पास दे, क्योंकि ये देश आपका ही है, इसके नुकसान से आपका की नुकसान है।

SIMI Behind CAA Protest 
विरोध और विद्रोह का यह कैसा रूप, गए थे सिस्टम को डराने और खुद का हाँथ ही खो बैठे। 

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com