वियतनाम
वियतनाम|udaybulletin
टॉप न्यूज़

चीन के पड़ोसी मुल्क ने ऐसे जीती कोरोना की जंग, अभी तक एक भी व्यक्ति की नहीं हुई है मौत

कोरोना से जंग में वियतनाम ने दुनियाभर के सामने मिसाल पेश की है और यह भी दिखाया है कि किस तरह कम सुविधाओं के बावजूद इतनी बड़ी महामारी से निपटा जा सकता है।

Puja Kumari

Puja Kumari

एक तरफ जहां संपूर्ण विश्व कोरोना वायरस की चपेट में है और लगातार इसकी वजह से मौत का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है वही एक ऐसा भी देश है जहां पर कोरोना की वजह से अभी तक एक भी मौत नहीं हुई है। निश्चित रूप से यह खबर सुनकर आपको काफी अजीब लग रहा होगा और कई लोगों को इस पर विश्वास भी नहीं हो रहा होगा क्योंकि दुनिया भर के सभी देशों में कोरोना वायरस ने अपना कहर बरपाया है यहां तक कि अमेरिका, इटली, स्पेन जैसे विकसित देश भी ना इसे रोक पा रहे ना ही इसका इलाज खोज पाए हैं।

ध्यान देने वाली बात तो यह है इन विकसित देशों में कोरोना महामारी की वजह से ना सिर्फ सबसे ज्यादा संक्रमित लोग पाए गए हैं बल्कि सबसे ज्यादा मौत का आंकड़ा भी इन्हीं देशों से आ रहा है और अभी तक यह सिलसिला थमा भी नहीं है। मगर इन सबके बीच वियतनाम एक ऐसा देश है जहां पर इस जानलेवा वायरस की वजह से अब तक किसी की भी मृत्यु नहीं हुई है।

ऐसा नहीं है की कोरोना वायरस का असर इस देश पर पड़ा ही नहीं है यहां भी कोरोना की वजह से अब तक 270 मामले आ चुके हैं मगर उनमें से 220 लोग पूरी तरह से स्वस्थ भी हो चुके हैं। फिलहाल बाकी के 50 लोगों की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

वियतनाम
वियतनाम google

इस रणनीति वियतनाम ने जीती कोरोना की जंग

सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात यह है कि चीन के साथ सीमा जुड़े होने के बावजूद वियतनाम में इस वायरस पर इतनी रोक कैसे लगायी जा सकी जिससे संक्रमित लोगों की संख्या भी बेहद कम रही और एक भी मौत की खबर नही आई।

इसके लिए वियतनाम ने बहुत ही तेजी से सावधानी और सतर्कता दिखाई जिसकी वजह से आज कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ी लड़ाई को दुनिया भर में इस देश को श्रेष्ठ उदाहरण माना जा रहा है। असल में वियतनाम में जैसे कोरोना संक्रमित लोगों का पता चला उन्हें तत्काल रूप से आइसोलेशन में रखा जाने लगा।

इसके बाद इन्होने अपना 'C and T' फार्मूला, यानी कांटेक्ट एंड ट्रेसिंग। चूँकि वियतनाम बहुत विकसित देश नही है और ना ही इस देश में जर्मनी या फिर साउथ कोरिया जैसे देशों की तरह बड़ी मात्रा में टेस्टिंग किट उपलब्ध हैं।

ऐसे में वियतनाम ने कम कीमत वाले कोरोना टेस्टिंग किट्स का प्रयोग करते हुए तेजी से उन सभी लोगों को ट्रेस कर के उनकी जांच की और उन्हें आइसोलेशन में रखने की व्यवस्था भी बनायीं। जिसकी वजह से आज की तारीख में इस देश में एक भी मौत का केस सामने नहीं आया है।

वियतनाम
वियतनाम google

हालाँकि कोरोना से जंग में वियतनाम आज इसलिए भी आगे है क्योंकि जैसे ही इस वायरस की सुचना मिली इसने चीन से लगी अपनी सभी सीमाओं को तत्काल सील कर दिया। सिर्फ इतना ही नहीं एयरपोर्ट पर आने वाले सभी यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग भी करते रहे। इसके अलावा जितने भी नागरिक विदेश से आ रहे थे उन्हें अगले 14 दिनों के लिए क्वारंटीन में रहना अनिवार्य कर दिया था। खास बात तो ये रही कि होटल आदि का भुगतान भी सरकार की तरफ से ही किया गया।

सामने आई सच्चाई

अब तक दुनिया भर के अन्य देशों को यही लग रहा था की वियतनाम जहाँ स्वास्थ्य सुविधा न के बराबर है उस देश में इतने कम केस और एक भी व्यक्ति की मौत नहीं होना मतलब वियतनाम जानकारी को छिपा तो नहीं रहा। हालाँकि अमेरिका ने खुद अपने अपने स्तर से जांच करायी और करीब हजार से ज्यादा दुकानदारों तथा 20 हजार के करीब विदेशियों और उनसे संपर्क में आने वालों की जांच कराने के सभी के रिपोर्ट नेगेटिव आये जिसके बाद यह कन्फर्म हो गया की वियतनाम द्वारा बताई गयी जानकारी पूर्ण रूप से सही है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com