Anamika Shukla Teacher
Anamika Shukla Teacher|Uday Bulletin
टॉप न्यूज़

अनामिका को आज मिला रोजगार, जिनके नाम से हो रहा था फर्जीवाड़ा

जिसके नाम पर सरकार को करोड़ों का चूना लगाया वो खुद बेरोजगार निकली।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

अनामिका शुक्ला के नाम से लगभग पूरा प्रदेश वाकिफ है, ये वही नाम हैं जिसके नाम से पूरे उत्तर प्रदेश में एक ही लड़की कई कस्तूरबा विद्यालयों में फर्जी नौकरी करके करोड़ो पैसे उठा रही थी अब जाकर एक निजी स्कूल में उन्हें शिक्षिका के रूप में तैनात किया गया है।

नाम पर लोगों ने खाई मलाई:

दरअसल कस्तूरबा गांधी विद्यालय में जिस वक्त फर्जीवाड़े का पता चला तो असलियत सांमने आयी कि कोई अनामिका शुक्ला नाम की महिला उत्तर प्रदेश के कई जिलों में सेवा कर रही है और करोड़ो रुपये कमा रही है नतीजन जांच में पाया गया कि कोई दूसरी महिला दूसरे नामों से यूपी के कई जिलों में पदस्थ है और विभागीय मिलीभगत से सरकार को चपत लगाई जा रही है। लेकिन जब अनामिका शुक्ला के नाम की पड़ताल हुई तो जानकारी मिली कि असल मे अनामिका शुक्ला गोंडा निवासी है और नौकरी के नाम पर कुछ भी नहीं है। ज्ञात हो कि अनामिका शुक्ला के जिस नाम पर करीब 2 दर्जन जगहों पर नौकरी की जा रही थी वो असल में बेरोजगार निकली। लेकिन मामले को मीडिया में आने के बाद गोंडा में ही संचालित भैया हरभान दत्त स्मारक विद्यालय में योग्यता सम्मान के आधार पर साहयक शिक्षिका के तौर पर नियुक्त की गई है। अनामिका शुक्ला को यह नौकरी भले ही प्राइवेट मिली है लेकिन अनामिका इस मामले को लेकर बेहद उत्साहित है।

दर्ज कराई एफआईआर:

Priya Jatav
Priya Jatav Google Image

फर्जीवाड़े की भनक के साथ अनामिका ने पुलिस स्टेशन जाकर एफआईआर दर्ज कराई है। ज्ञात हो अनामिका ने अपने नाम और दस्तावेजों के दुरुपयोग को लेकर जानकारी उपलब्ध कराई थी कि उन्होंने शिक्षक भर्ती के समय आवेदन तो किया था लेकिन परिस्थितियों के कारण कॉउंसलिंग नही करा पाई। शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मिली भगत पर मेरे आठवीं के दस्तावेजों में उपलब्ध पते को आधार बनाया गया और फर्जी नियुक्तियां की गई। अनामिका के मुताबिक उनकी डिग्रियों का दुरुपयोग किया गया और वह अभी तक बेरोजगार रही। इस मामले पर प्रिया जाटव नाम की एक लड़की को कासगंज से पकड़ा गया है। विशेष जांच दल इस फर्जीवाड़े में शामिल लोगों की तहकीकात कर रहा है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com