आपका अपना उरई नाम के फेसबुक पेज पर उरई की सड़कों का हाल दिखाता युवक
आपका अपना उरई नाम के फेसबुक पेज पर उरई की सड़कों का हाल दिखाता युवक|फोटो साभार: आपका अपना उरई फेसबुक पेज
टॉप न्यूज़

बाबाजी हेलमेट तो लगा लेंगे लेकिन सड़कों का क्या, ये नरक के द्वार हैं।

नितिन गडकरी जो हजारों किलोमीटर सड़कें बनाने का दावा करते हैं उन्हें ये सड़क देखनी चाहिए। ये तो बस एक उदाहरण है ज्यादातर सड़कों का यही हाल है। जनता के लिए नियम है तो सरकार के लिए क्यों नहीं।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

जनाब अगर आप सड़क पर वाहन के साथ है तो आप सरकार और उत्तर प्रदेश पुलिस के रहमों करम पर हैं। अगर आपने हेलमेट नहीं लगाया और बाइक लेकर बाजार पहुंचे तो यकीन मानिए घर पहुँचने से पहले आपका फोन आपके बटुए को एक एसएमएस के जरिये हल्का कर सकता है। चलिए सड़क सुरक्षा के लिहाज से ये ठीक भी है लेकिन अगर सड़कें ही ठीक नहीं है तो हेलमेट कोलतार बनकर सड़क थोड़ी ठीक करेगा।

युवक ने ली सरकार की मौज:

इसे व्यंग की कहा जायेगा कि युवक ने उत्तर प्रदेश के उरई की सड़कों पर मौजूद गड्ढों की विशेषताओं को बताते हुए सरकारी सड़कों को पिकनिक स्पॉट बना दिया और गड्ढों के आस-पास बैठकर, तो कभी लेटकर फोटोग्राफी कराई और इसका मकसद सिर्फ एक था सरकार पर करारा व्यंग। लड़के ने हेलमेट लगाकर गड्ढे के बीच योगासन किया।

हेलमेट तो हम लगा लेंगे लेकिन सड़कें?:

मामले में युवक ने तंज करते हुए लिखा "हेलमेट तो हम लगा लेंगे लेकिन सड़के कौन बनवायेगा और इसका चालान कौन भरेगा ?

अपना उरई नामक फेसबुक पेज द्वारा पोस्ट की गई तस्वीरें

#हेलमेट तो भैया हम लगा लेंगे लेकिन इस रोड को कौन बनवाएंगा और इसका #चालान कौन भरेगा सामने आए ??? नियम बनाना गलत नहीं है लेकिन नियम पर चलना भी जरूरी है ...

Posted by आपका अपना उरई on Wednesday, August 26, 2020

सरकार पहले तो बहुत तेज रही, बाद में सुस्त पड़ गयी:

अगर योगी सरकार का ट्रैक रिकॉर्ड देखे तो सरकार बनने के तुरंत बाद सरकार हरकत में आई और टूटी-फूटी सड़कों को बड़ी तेजी से मरम्मत के काम में लाया गया। लेकिन अंततः जैसा कि पहले होता आया है सड़कें ठेकेदारों और जेई महोदयों की के नजराने में सिमट कर रह गयी। वैसे तो जग जाहिर है कि पीडब्ल्यूडी जैसे जिम्मेदार विभागों में भी 10 परसेंट का कमीशन सदियों से चला आ रहा है जो गुणवत्ता के आधार पर लगातार बढ़ता जाता है। ठीक वैसा ही हुआ और आजकल बुंदेलखंड खराब सड़कों को लेकर परेशानी में है। देखते हैं कि सरकार इन पर रहमों करम कब तक करती है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com