उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Stray cow
Stray cow|Uday Bulletin
टॉप न्यूज़

Ground Report: सरकार गौशालाओं पर हजारो करोड़ो रूपये पानी की तरह बहा रही है, तो फिर ये गायें शहर के अंदर क्या पिकनिक मनाने आयी है? 

लाल फीताशाही का अलग ही आलम है, जब योगी जी बाँदा आये तो आवारा गायों को जबरजस्ती नहला धुला कर गौशालाओं में ठेला गया था और योगी जी के पीठ घुमाते ही नजारा अलग हो गया। 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

बाँदा: अगर आप रात के समय बाँदा के अंदर से गुजर रहे है तो आप बेहद धीमे चलिये क्योंकि कोई भी गाय अचानक से आपके आगे आकर आपसे नमस्कार कर सकती है, अगर ताकत के नशे में चूर सांड आपके सामने आ गया तो आपको हवा में बीसो फिट ऊपर की सैर करवा सकता है।

सड़के किनारे कुचली जा रही गाये :

Stray Cow
Stray Cow
Uday Bulletin

आप झांसी मिर्जापुर हाइवे को ही ले लीजिये, आप इस हाइवे के किसी किनारे से गुजरिये आपको दो-चार गाय हर एक किलोमीटर पर किसी ट्रक की टक्कर से कुचली हुई नजर आ ही जाएगी और छोटे रास्तो पर झुंड लगाए हुए मिल जाएगी जो रात के धुंधलके में कोहरे की वजह से बड़ी दुर्घटना को दावत देने के लिए तैयार खड़ी है।

सर्दी में ठिठुरता गौवंश :

Stray cow
Stray cow
Uday Bulletin 

एक ओर जहां सरकार गौवंश की सुरक्षा के लिए पैसे को पानी की तरह बहाने पर आमादा है तो गौशालाओं में गौवंश के लिए उपलब्ध राशन और गर्माहट की समाग्री कौन डकार रहा है?

मुख्यमंत्री के आने की आहट पर बदल गया था नजारा :

अभी चंद दिनों पहले की ही तो बात है जब मुख्यमंत्री का बाँदा आगमन हुआ था, तो गोबर से सनी गायों को नहलाकर तेल काजल लगा कर प्रस्तुत किया गया था लेकिन अब हालात बदल चुके है, सरकारी अमला रूम हीटर की गर्मी को पाकर नींद में मस्त है और गौवंश सर्दी में मरने के लिए मजबूर है।