रविशंकर प्रसाद के हेलीकॉप्टर के क्रैश होने की घटना पूरी सत्य नहीं

रवि शंकर प्रसाद के ऑफिस ने इस मामले में पक्की जानकारी उपलब्ध कराई है और हेलीकॉप्टर के क्रैश होने की बात को गलत करार दिया गया है
रविशंकर प्रसाद के हेलीकॉप्टर के क्रैश होने की घटना पूरी सत्य नहीं
Ravi Shankar PrasadGoogle Image

भारतीय मीडिया पिछले कुछ वक्त से अलग रंगों लुआब से भीगकर चल रहा है, मीडिया खुद ही अपने हिसाब से खबरों को तोड़-मरोड़ कर जनता के सामने परोस रहा है, बीते दिन केंद्रीय मंत्री के हेलीकॉप्टर के क्रैश होने की खबरें भारतीय मीडिया में आग की तरह फैलने लगी, इस खबर को सुनकर भारतीय राजनीति से लेकर देश भर में खबर का व्यापक असर हुआ लेकिन बात कुछ अलग ही निकली।

हेलीकॉप्टर के रोटर ब्लेड टकराकर टूटे:

दरअसल मीडिया ने यह खबर प्रसारित कर दी कि केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का हेलीकॉप्टर क्रैश किया, इस हादसे में रविशंकर प्रसाद बाल-बाल बच गए, लेकिन बाद में रवि शंकर प्रसाद के ऑफिस को यह साफ करना पड़ा कि मामला यह नही है जो मीडिया द्वारा फैलाया गया है, मामले में ऑफिस के ट्विटर हैंडल द्वारा यह जानकारी दी गयी कि घटना के मामले में दी गयी जानकारी अपूर्ण है।

बाद में बताया सच:

इस मामले पर रवि शंकर प्रसाद के ऑफिस द्वारा इस मामले की पूर्ण जानकारी दी गयी और बताया कि "रविशंकर प्रसाद जिस हेलीकॉप्टर में बैठ करके यात्रा को पूर्ण करके आये थे उस हेलीकॉप्टर की रोटर ब्लेड हैंगर में जाते वक्त दुर्घटना ग्रस्त हो गए है, लेकिन उससे पहले ही रविशंकर प्रसाद एयरपोर्ट से रवाना हो चुके थे, वे पूरी तरह सुरक्षित और स्वस्थ्य है।

क्या है क्रैश और अन्य दुर्घटनाग्रस्त होने में अंतर:

इन दोनों घटनाओं में बेहद साफ और अलग अन्तर होता है, दरअसल किसी भी वायुयान को क्रैश होने का आशय इससे लगाया जाता है कि वायुयान सौ प्रतिशत जमीन को छोड़कर हवा में रहा होगा, बल्कि दुर्घटनाग्रस्त होने का आशय हेलीकॉप्टर में जमीन में खराबी होने से लगाया जाता है।

दरअसल भारतीय मीडिया सबसे पहले खबर दिखाने के चक्कर में कई बार पहले ही फ़जीहत करवा चुकी है, कई बार सीख मिलने के बाद भी यह ट्रेंड बदस्तूर जारी है और कई बार गलतियां करने पर भी कोई सुधार नजर नही आया।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com