उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Giriraj Singh
Giriraj Singh|IANS
टॉप न्यूज़

जनसंख्या नियंत्रण कानून का मुद्दा गरमाया, अजमल के बयान पर भड़के गिरिराज

हिंदुस्तान में इस्लाम सिर्फ बच्चा पैदा करने की फैक्ट्री है.

Abhishek

Abhishek

असम में दो से अधिक बच्चे होने पर सरकारी नौकरी न मिलने के फैसले के बाद देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून का मुद्दा फिर तूल पकड़ रहा है। एआईयूडीएफ (AIUDF) प्रमुख बदरुद्दीन अजमल के विरोध के बाद मामले ने धार्मिक रुख भी ले लिया है। भाजपा के नेता इस मुद्दे पर अब खुलकर तीखी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। असम में सर्वानंद सोनवाल सरकार की कैबिनेट में बीते 22 अक्टूबर को हुए फैसले में कहा गया कि असम में एक जनवरी 2021 से दो से अधिक बच्चे वालों को सरकारी नौकरी नहीं मिलेगी।

इस पर आल इंडिया युनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) प्रमुख बदरुद्दीन अजमल ने विरोध करते हुए कहा कि असम में भाजपा सरकार में मुस्लिमों को वैसे भी नौकरी नहीं मिलनी है, उन्हें सरकारी नौकरी से बाहर रखा जाएगा, ऐसे में समुदाय को इस फैसले से कोई चिंता नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारे धर्म इस्लाम में सिर्फ दो बच्चे पैदा करने जैसा कोई नियम नहीं है। जितने चाहे बच्चे पैदा करें लेकिन उन्हें शिक्षित करें ताकि वे खुद रोजगार पाएं और हिंदू समुदाय को भी रोजगार दे सकें।

अजमल के बयान पर मंगलवार को केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "बदरुद्दीन अजमल की नजर में हिंदुस्तान में इस्लाम सिर्फ बच्चा पैदा करने की फैक्ट्री है..क्या ईरान, इंडोनेशिया, मलेशिया इत्यादि अन्य देश में इस्लाम नहीं है जिन्होंने जनसंख्या नियंत्रण के लिए कारगर उपाय किए हैं?"

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, "1951 में जनसंख्या 36 करोड़ थी जो अब 137 करोड़ हो गई, हर साल दो करोड़ की जनसंख्या वृद्धि हो रही है। असम सरकार को धन्यवाद देता हूं कि जो काम हिंदुस्तान में बहुत पहले हो जाना चाहिए थे, उसने वो कर दिखाया।"

देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग को लेकर गिरिराज सिंह लंबे समय से मुखर रहे हैं। हाल ही में उन्होंने मेरठ से दिल्ली तक सैकड़ों लोगों के साथ पदयात्रा भी निकाली थी, जिसके समापन पर 13 अक्टूबर को दिल्ली के जंतर-मंतर पर सभा कर उन्होंने केंद्र सरकार से चीन की तर्ज पर कठोर जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू करने की मांग की थी।

भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भी बदरुद्दीन के बयान पर तीखा विरोध जताया है।