Black Marketing in Banda UP Market
Black Marketing in Banda UP Market|Google
टॉप न्यूज़

सरकार कुछ भी दावे करे लेकिन कालाबाजारी अपने चरम पर है। 

मौके का फायदा उठा रहे कुछ व्यापारी।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

जहां एक ओर कोरोना महामारी से बचाव के लिए भारत सरकार ने इक्कीस दिन के देशव्यापी लॉक डाउन की घोषणा की है वहीँ उत्तर प्रदेश के अधिकतर जिलो में कर्फ्यू की घोषणा कर दी है। इसी आदेश का फायदा उठा कर व्यापारियों ने उपयोगी सामानों की कीमतें आसमान में उठा दी है।

बाँदा में आलू ऊँचाई पर :

आज से दो दिन पहले की ही बात है बाजार से लेकर फुटकर सब्जी की दुकानों पर आलू की कीमत अधिकतम 80 रुपये प्रति पांच किलो पर बिक रहा था लेकिन लॉकडाउन की घोषणा के तुरंत बाद यह अचानक दुगने से भी ज्यादा 180 रुपये प्रति पांच किलो हो गया। इस हिसाब से अगर देखा जाए तो 16 रुपये प्रति किलो मिलने वाला आलू अब 36 रुपये किलो में मिल रहा है। लेकिन ऐसा नही है कि इसकी जानकारी प्रशासन को नही है बल्कि मंडियों में आला वर्ग के अधिकारी भी इसी रेट पर सब्जियों की खरीदारी करते हुए नजर आए।

विक्रेताओं का खरा जवाब :

ऐसा नहीं है कि लोगों द्वारा इस मामले पर बहस नहीं की गई। खरीदने वाले लोगों ने विक्रेताओं से इस बाबत जानकारी ली तो विक्रेताओं ने साफ शब्दों में कहा कि जब हमें मंडी में महंगे रेट पर मिलेगा जो जनता को महंगा ही खरीदना पड़ेगा।

देखना यह है कि उत्तर प्रदेश सरकार जो जनता को दूध और सब्जी मुहैया कराने की बात कहती हुई नजर आ रही थी वह अपने दावे पर कितना खरा उतरती है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com