राजस्थान बना दूसरा पालघर, मंदिर के पुजारी को तेल डालकर जिंदा जलाया

राजस्थान के करौली में मंदिर की जमीन के लिए मंदिर के पुजारी को पेट्रोल डालकर जला दिया गया
राजस्थान बना दूसरा पालघर, मंदिर के पुजारी को तेल डालकर जिंदा जलाया
मंदिर के पुजारी को पेट्रोल डालकर जलाUday Bulletin

सामाजिक न्याय और सभी की सुरक्षा का दम भरने वाली राजस्थान सरकार और कांग्रेस पार्टी बीते कुछ दिनों से बैकफुट पर चल रही है, बीते दिनों में जब उत्तर प्रदेश में बलात्कारों के मामले पर आवाजें उठना शुरू हुई तो राजस्थान सरकार और कांग्रेस पार्टी ने अपने शासन के कसीदे पढ़ना शुरू कर दिए, लेकिन ताजा मामले में राजस्थान सरकार को लोगों के निशाने पर आना निश्चित है।

पुजारी को जिंदा जलाया:

ताजा मामला एक मंदिर के पुजारी को जिंदा जलाने से जुड़ा हुआ है, जहाँ पर भू माफियाओं ने एक मंदिर की जमीन को हड़प करने के लिए जमीन पर अनाधिकृत रूप से निर्माण कार्य कराना शुरू कर दिया, पुजारी बाबूलाल ने जब इस अनैतिक कार्य का विरोध किया तो आरोपी लोगों ने मदिर स्थल में बने टप्पर में पेट्रोल डालकर आग लगा दी, जिससे मंदिर के पुजारी का लगभग-लगभग पूरा शरीर आग में जल गया और इलाज के दौरान जयपुर के एसएमएस अस्पताल में मौत हो गयी। मामले में मुख्य आरोपी कैलास मीणा समेत अन्य लोगों पर पुलिस ने वैधानिक कार्यवाही का दावा किया है।

पंचायत में हो चुका था फैसला:

जमीन कब्जाने की शुरुआत केवल 8 अक्टूबर से ही शुरू नहीं हुई दरअसल मुख्य आरोपी कैलास मीणा, नमो मीणा, किशन, रामलखन एवं अन्य लोगों द्वारा मंदिर के लिए निर्धारित जमीन पर कब्ज़ा करने की जुगत में पहले से लगे हुए थे।

दरअसल मामला राजस्थान के करौली जिले अंतर्गत थाना सपोटरा के गांव बूकना से जुड़ा हुआ है जहां पर एक मंदिर में लगभग 50 वर्षीय पुजारी बाबूलाल वैष्णव मंदिर में रहकर सेवा करते थे इसी मंदिर से करीब 15 बीघे जमीन लगी हुई है जिसपर पुजारी खेती करके अपने जीवन का निर्वहन करता था लेकिन राजस्थान में अनुसूचित जन जाती में आने वाले मीणा समुदाय के कुछ लोगों ने मंदिर की जमीन कब्जाने का प्रयास किया जिसपर पुजारी ने विरोध दर्ज कराया और इस मामले में एक स्थानीय पंचायत भी कराई गई और फैसला पुजारी के पक्ष में आया।

लेकिन आरोपी और उसका परिवार किसी भी प्रकार से जमीन को कब्जाने की कोशिश में था बीते 8 अक्टूबर को आरोपियों ने उक्त जगह पर निर्माण करना शुरू किया जिसपर पुजारी ने फिर से विरोध दर्ज कराया, इस पर आरोपियों ने पुजारी पर पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया।

लोगों के आरोप, कांग्रेस को अब गलत नजर नहीं आया:

वर्तमान में राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है इस पर लोगों के रिएक्शन आने शुरू हो गए है, लोगों ने आरोप लगाए की क्या केवल वही अपराध है जो गैर कांग्रेस शासित राज्यों में हुआ हो, राजस्थान में हुए इस अपराध को एक उपलब्धि के जैसा माना जायेगा ?

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com