Coronavirus Patient Escaped from Chhatarpur District Hospital
Coronavirus Patient Escaped from Chhatarpur District Hospital|Google
टॉप न्यूज़

छतरपुर के अस्पताल से भाग निकला कोरोना वायरस का संदिग्ध मरीज। 

ये घटना सैकड़ो लोगों को संक्रमित बना सकती है, अगर प्रशासन इस बारे में सही कदम नहीं उठाता। हालांकि रोगी के इस वायरस से संक्रमित होनी की पुष्टि नहीं हुई है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

छात्र चीन में पढ़ रहा था और हाल में ही भारत लौटा है, इसलिए निगरानी की जा रही थी।

कोरोना वायरस से जहां एक ओर पूरी दुनिया जंग लड़ रही ही, और एशिया का सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश चीन इससे सबसे ज्यादा प्रभावित है वहीं भारत मे भी कोरोना वायरस के मरींजों की पुष्टि होती जा रही है वहीँ उत्तर प्रदेश की सीमा से जुड़े हुए मध्यप्रदेश के जिला छतरपुर में एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है जहाँ एक संभावित कोरोना वायरस पीड़ित व्यक्ति अस्पताल से भाग निकला है, जिसको लेकर बड़ी सरगर्मी से तलाश की गयी।

कुछ दिनों पहले चीन से आया था :

गौरतलब हो कि मध्यप्रदेश के जिला छतरपुर में पिछले दिनों एक व्यक्ति खांसी, जुकाम और बुखार से पीड़ित होकर पहुचा था, जहाँ अस्पताल प्रशासन को यह जानकारी दी गयी कि लड़का चीन में रहकर एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा था, चीन में कोरोना वायरस के फैलने के बाद ही वह 14 जनवरी को भारत लौट कर आया था, जहाँ उसे स्वास्थ्य संबंधित समस्या होने पर छतरपुर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, अस्पताल प्रशासन ने कोरोना वायरस की शंका पर आइसोलेशन वार्ड में रखा हुआ था। लेकिन अचानक वह बीमार व्यक्ति अपने वार्ड से फरार होना बताया गया , इस मामले को लेकर प्रशासन के हाँथ पांव फूल चुके थे भागे हुए युवा की उम्र करीब 28 वर्ष के आसपास है और नाम अभिषेक राजपूत बताया जा रहा है।

अस्पताल कर रहा था निगरानी :

चूंकि मामला दुनिया में महामारी साबित हो चुके कोरोना वायरस से जुड़ा हुआ है इस लिए स्थानीय प्रशासन अभिषेक को अपनी निगरानी में रखकर देखभाल कर रहा था लेकिन अचानक अभिषेक अपने वार्ड से फरार हो गया है, प्रशासन ने यह चिंता हुई कि कही उक्त व्यक्ति द्वारा अन्य लोगो को संक्रमित न कर दिया जाए, हालकि मुस्तैदी के बाद प्रशासन ने छतरपुर के नौगांव कस्बे के निवासी इस लड़के को पकड़ कर दोबारा अस्पताल में भर्ती कराया गया है,

अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि हालकि अभी कोरोना वायरस होने की पुष्टि नही हुई है फिर भी सरकारी निर्देशो के बाद ऐतिहात बरते जा रहे है, अगर मरीज टेस्ट ने नकारात्मक पाया जाता है तो उचित इलाज के बाद छुट्टी देदी जाएगी।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com