उत्तर प्रदेश का माहौल खराब करने की पूरी कोशिश, जातिवादी उन्माद फैलाने में लगे नेता

अपनी राजनीति को चमकाने और योगी सरकार को बदनाम करने के लिए इन नेताओं ने जी-जान लगा दिया था लेकिन योगी सरकार ने इसे बहुत अच्छे से संभाला और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई भी की जा रही है।
उत्तर प्रदेश का माहौल खराब करने की पूरी कोशिश, जातिवादी उन्माद फैलाने में लगे नेता
कमल भारती सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टीGoogle Image

लोगों ने इन नेता जी के बयानों को गिद्ध भोज से जोड़कर देखा है और देखा भी क्यों न जाये, जो नेताजी हाथरस की बेटी की मौत और कथित बलात्कार का बदला जाति विशेष की महिलाओं के साथ सुलाकर चुकाने में यकीन रखते है।

ताजा मामला एक कथित दलित और पिछड़े वर्ग के नेता कमल भारती के बयानों से जुड़ा हुआ है जहां पर नेता जी ने एसपी, डीएम और मुख्यमंत्री समेत लगभग सभी नेताओं और आला अधिकारियों की माँ बहन एक करने में कसर नहीं छोड़ी। हालांकि मामला संज्ञान में आने पर पुलिस ने सरगर्मी से तलाश शुरू कर दी है और नेताजी को गिरफ्तार करने का काम चल रहा है।

दलित बेटी के बदले की आग ने अंधा कर दिया:

नेताओं की जुबान का गंदा होना कोई नया नहीं है, फिर चाहे वह किसी भी पार्टी से संबंधित हो, लेकिन इस बार तो सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अनुसूचित जाती प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष कमल भारती ने अमर्यादित भाषा बोलने की सारी हदें पार कर दी है। नेता जी ने हाथरस मामले पर अपनी भड़ास निकालते हुए सबको एक तराजू में तौल दिया और साथ ही जाति विशेष के लोगों पर इतनी तोहमतें लगाई की सुनना मुश्किल हो जाता है।

नेता जी का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है जिसकी शुरुआत नेता जी के परिचय से शुरू होती है, नेता जी खुद को सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष बताते हुए नजर आते है फिर शुरू होता है भाषा के साथ नेता, मंत्री मुख्यमंत्री की माँ बहन के साथ शाब्दिक बलात्कार, बयान के टुकड़े हम आंशिक रूप से लिखने का प्रयास कर रहे है।

मेरी बहन की इज्जत लूटी गई है तो मैं ठाकुरों की मैया का ऐसी की तैसी करता हूँ, मैं सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी का जिलाध्यक्ष हूँ अनुसूचित प्रकोष्ठ का, मैं खुला चैलेंज देता हूँ कि जिस ठाकुर की माँ की गोद मे अभी ताकत हो, अपनी बहन-बेटी को मेरे यहाँ लाकर सुला दे, मैं एक करोड़ रुपये उसको अपनी जायजाद बेचकर दे दूंगा (साथ मे सभा मे बैठे नेता जी समर्थकों के द्वारा प्रसन्न होकर ताली बजायी जाती है)।

नेता जी भाषा का स्तर और गिराते हुए बोलते है कि "अगर ऐसा नहीं हुआ तो क्या हाथरस का डीएम अपनी माँ @#$@#@ रहा था ? वहां का एसपी अपनी बहन @#$%@# रहा था ? इस प्रदेश का मुख्यमंत्री ( योगी आदित्यनाथ) अपनी माँ के यहाँ सो रहा था?

ट्वीट किए गए वीडियो को अपने विवेक के अनुसार देखे और सुने, इस वीडियो में मर्यादाओं की हर सीमा को पार किया गया है।

इस वीडियो को ट्विटर पर कुलदीप शुक्ला नामक उपयोगकर्ता ने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया है और साथ ही इस ट्वीट में डीएम हाथरस, हाथरस पुलिस, डीजीपी यूपी,और उत्तर प्रदेश पुलिस को टैग करके सवाल किया है। साथ ही ऐसे असामाजिक तत्वों के बारे में दलित नेता मायावती से इस मामले में दो शब्द बोलने की अपील की है।

पुलिस ने कहा मुकदमा पंजीकृत है, धरने की तैयारी है:

ट्वीटर पर वीडियो पोस्ट करने के बाद जहां से यह नेता जी है (मउ-उप्र) की पुलिस ने जवाब दिया है कि नेता जी के खिलाफ मु 0 अ0 स0 529/ 20 , धारा 153 A , 504 ( भारतीय दंड विधान ) तथा 67 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है और तीन तीन टीमें बनाकर नेता जी को धरने के प्रयास किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री कह चुके है देश को जलाने की कोशिश थी:

इस मामले पर उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने मीडिया को अपने बयानों के जरिये पहले से ही अवगत करा दिया है कि इस दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की आड़ में देश विरोधी ताकते और विपक्षी दलों की मंशा देश प्रदेश में आग भड़काने की थी। इसके लिए बकायदे विदेशों से फंडिंग भी की गई थी और बेवसाइट बनाकर इस मामले में दलित सवर्ण का एंगल बनाकर सभी जगह दंगे कराने का प्लान था लेकिन सुरक्षा एजेंसियों के चलते यह संभव नहीं हो पाया। मुख्यमंत्री ने बताया कि जिनको विकास रास नहीं आ रहा है वही लोग उस तरह की हरकतें कर रहे है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com