उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Dewapur village Gopalganj Bihar student Murder
Dewapur village Gopalganj Bihar student Murder|Uday Bulletin
टॉप न्यूज़

दिल्ली में दरिंदो की फांसी पर दलील देते रहे और बिहार में एक और निर्भया भेड़ियों का शिकार हुई। 

लोगों के अनुसार कई बार तो यह लगता है कि हैदराबाद पुलिस का किया गया फैसला “ऑन द स्पॉट” बिल्कुल सही था, वरना अदालती चक्कर मे न्याय का ही जनाजा निकाल दिया जाता है। 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

बिहार के गोपालगंज जिले के अंतर्गत आने वाले बरौली थाना क्षेत्र के गांव देवापुर में एक और निर्भया दरिंदो की दरिंदगी का शिकार हो गयी, स्कूल की चहारदीवारी के अंदर ही कक्षा के बीच एक छात्रा के साथ दरिंदगी को अंजाम दिया गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि छात्रा का शव लटका हुआ पाया गया है। यहाँ एक बात और गौर करने वाली है कि छात्रा के हाँथ और पैर दोनो बंधे हुए पाए गए है।

सामूहिक दुष्कर्म की हुई पुष्टि:

गौरतलब हो कि शव पाए जाने के बाद ही लोगों के द्वारा दुष्कर्म होने की आशंका बताई जा रही थी, और पोस्टमार्टम के बाद यह पुष्टि भी हुई कि मृतका के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया है, मृतका के शरीर पर संघर्ष और वहशीपन के निशान भी पाए गए है।

तीन आरोपी गिरिफ्तार :

देवापुर के इस सनसनी हत्या और बालात्कार कांड के बाद पुलिस ने मात्र 24 घंटे में इस घटना को सुलझाने का दावा किया है। इस मामले में पुलिस ने मृतका के प्रेमी अंकित कुमार पुत्र जयकुमार पटेल उम्र 18 वर्ष ,हरेश पटेल पुत्र निरंजन पटेल उम्र 23 वर्ष, तथा 17 वर्ष के नाबालिग को हत्या और बलात्कार के मामले में गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार अंकित कुमार का मृतका के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। और अंकित तथा मृतका क्लास रूम में मौजूद थे उन दोनों के अलावा उस वक्त क्लास में कोई दूसरा बच्चा मौजूद नहीं था। मृतका और अंकित को विशेष परिस्थितियों में दूसरे छात्र निरंजन पटेल और एक अन्य नाबालिग ने आकर मोबाइल पर वीडियो क्लिप बना ली, साथ ही मृतका के साथ अश्लील हरकतें करने लगे। छात्रा ने इसका विरोध किया लेकिन सभी आरोपियों ने बारी-बारी दुष्कर्म करके छात्रा की हत्या कर दी। पुलिस की माने तो अंकित ने ही दूसरे अन्य छात्रों के साथ मिलकर यह स्वांग रचा था ताकि निरंजन और अन्य नाबालिग को यह दुष्कर्म करने का अवसर मिल सके।

आत्महत्या साबित करने की कोशिश की :

पुलिस की तफ्तीश में यह सामने आया है कि तीनों छात्रों ने मिलकर इस हत्या और बलातकार को आत्महत्या साबित करने की कोशिश भी की, आरोपियों द्वारा छात्रा की तरफ से भोजपुरी भाषा मे एक सुसाइड लेटर भी लिखा गया। लेकिन पुलिस की सख्ती के सामने तीनो आरोपियों ने पूरा अपराध कुबूल कर लिया है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।