coronavirus  connection With temperature
coronavirus connection With temperature|udaybulletin.com
टॉप न्यूज़

तो क्या गर्मी बढ़ने पर ख़त्म हो जायेगा कोरोना वायरस, जानें क्या है सच 

कोरोना की वजह से जो लोगों के मन में डर बना है उसे खत्म करने के लिए कई तरह की बातें सामने आ रही हैं, जिसमें ये भी कहा जा रहा है कि गर्मी (temperature) बढ़ने के वजह से ये वायरस खत्म हो जाएगा।

Puja Kumari

Puja Kumari

कोरोना वायरस (Coronavirus) पिछले कुछ समय से सभी न्यूज़ चैनल, सोशल मीडिया, अखबार और हर तरह की चर्चा में कोई मुद्दा है तो वो है कोरोना। सोशल मीडिया पर यह भी दावा किया जा रहा है कि यह एक ऐसा वायरस जो प्रयोगशाला में मानव द्वारा किये गये प्रयोग का एक हिस्सा था जिसने ऐसा भीषण रूप ले लिए कि देखते ही देखते दुनिया भर में तबाही मचा दी। विश्व स्वास्थ्य संघठन (World Health Organization) ने तो इस खतरनाक वायरस के भयावह रूप को देखते हुए इसे तत्काल रूप से महामारी घोषित कर दिया है। चीन से शुरू होते हुए इस वायरस ने इटली, अमेरिका, ब्रिटेन, भारत समेत तक़रीबन दुनियाभर के 90 प्रतिशत से भी ज्यादा देशों को अपनी चपेट में ले रखा है।

कैसे फैलता है कोरोना वायरस

सभी देशों की सरकारें अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए अलग-अलग तरीके से प्रयास कर रही है मगर कहीं न कहीं से लगातार इसके संक्रमित लोगों की संख्या में इजाफा होते ही जा रहा है। यह वायरस किसी के छींकने से भी फैलता है क्योंकि जब भी इससे संक्रमित कोई व्यक्ति छींकता है तो उनके मुंह से निकली बूंदें अपने साथ कोरोना वायरस को लेकर बाहर आता है को हवा में करीब तीन से चार घन्टों तक मौजूद रहता है।

लकड़ी पर इस वायरस का असर तक़रीबन 24 घंटों तक रहता है और स्टील आदि के सामान पर इसका असर 2 से 3 दिन तक रह सकता है। साफ़ साफ़ समझा जाये तो कोरोना से संक्रमित व्यक्ति अगर किसी वस्तु को छूता है और उसी वस्तु को आप हाथ लगते है जिसके बाद वो वायरस किसी तरह से आपके शरीर में प्रवेश कर जाता है तो आप भी इसके शिकार हो सकते हैं।

ऐसी ही तमाम तरह की जानकरियों के बिच आपको एक बात और भी सुनने को मिल रही होगी की लोगों को गर्मी के मौसम का बहुत ही बेसब्री से इन्तजार है। अब गर्मी से कोरोना का क्या सम्बन्ध, तो जान लीजिये की गर्मी का इस वायरस से काफी बड़ा सम्बन्ध बताया जा रहा है।

corona and heat
corona and heat google

गर्मी और कोरोना का क्या है कनेक्शन

जब से कोरोना ने अपना प्रचंड रूप दिखाना शुरू किया है उसके बाद से इससे बचाव के कई सारे तरीके बताये और सुने जाने लगे हैं। कुछ लोगों का यह भी मानना है की गर्मी के आते ही कोरोना वायरस स्वतः ही ख़त्म हो जायेगा। कईयों का ऐसा भी मानना है की गर्म पानी पीने से या किसी भी चीज को इस्तेमाल करने से पहले उसे गर्म कर लें या उबल लें तो कोरोना के खतरनाक वायरस मर जाते हैं।

इस तरह की तमाम बातें सोशल मीडिया पर काफी तेजी से फ़ैल रही हैं। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि सोशल मीडिया पर एक पोस्ट ने तो ना सिर्फ भारत बल्कि अन्य कई सारे देशों में भी काफी असर दिखाया है। इस पोस्ट में बताया गया है की यदि आप रोजाना दो से तीन घंटे धुप लेते हैं और हर वक़्त गर्म पानी पीते हैं तो ऐसा करने से आपको कोरोना वायरस का संक्रमण होने का खतरा नहीं होगा।

हद तो तब हो गयी जब ये बताया जाने लगा की यह सन्देश यूनिसेफ (UNICEF) की तरफ से जारी किया गया है ताकि दुनिया भर के नागरिक खुद की सुरक्षा कर सकें। इसमें यह बात भी कही गयी है कि जितना संभव हो गर्म पदार्थ का सेवन करें और ठंडी चीजें जैसे कि कोल्ड्रिंक, आइसक्रीम आदि से दुरी बनाये रखें। मगर आपको बता दें कि कोरोना से बचाव के लिए बताये गए ये सभी उपाय पुरे तरह से बेबुनियाद हैं और ना खुद यूनिसेफ की तरफ से भी इस सन्देश को फर्जी बताया गया है।

corona and heat
corona and heat google

तो क्या गर्मी आने से ख़त्म हो जायेगा कोरोना वायरस

आमतौर पर वैज्ञनिक भी बताते हैं कि कई ऐसे वायरस होते हैं जो तापमान बढ़ने के साथ ही नष्ट हो जाते हैं मगर कोरोना वायरस के साथ ऐसा नहीं है। अभी तक के हुए शोध से ये पता चलता है कि कोरोना वायरस 60 से 70 डिग्री सेल्सियस तक नहीं मर सकता और इतना तापमान ना तो कभी भारत में हो सकता है और ना ही विश्व के किसी अन्य देश में।

तो यह बात तो साफ़ हो गयी कि गर्मी के आने से कोरोना के ख़त्म होने का कोई भी ताल्लुख नहीं है। हाँ ये जरुर कहा जा सकता है की तीखी गर्मी के मौसम में अगर कोई कोरोना का मरीज किसी भी पब्लिक प्लेस में छींकता है तो तापमान ज्यादा होने की वजह से उसके मुह से निकली बूंदें जल्दी सुख जायेंगे जिससे संक्रमण का खतरा काफी हद तक कम हो सकता है।

अभी तक इस बात की कोई भी ठोस पुष्टि किसी भी दश के वैज्ञानिकों द्वारा नही की गयी है कि गर्मी के आने के साथ साथ कोरोना वायरस का प्रभाव ख़त्म हो जायेगा। क्योंकि इस जानलेवा वायरस का असर कई ठन्डे देशों में तथा दुबई जैसे गर्म देश में भी फ़ैल चूका है।

फिलहाल इससे बचने का सिर्फ एक ही ठोस तरीका है और वो है सावधानी, खुद सतर्क रहिये और ज्यादा से ज्यादा खुद को औरों के संपर्क में आने से बचें। फिलहाल वैज्ञानिक इसकी दावा बनाने का प्रयास जोरों से कर रहे मगर अभी तक कोई ठोस सफलता मिल नहीं पायी है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com