उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
सावित्री बाई फुले
सावित्री बाई फुले|Google
टॉप न्यूज़

बीजेपी सांसद सावित्रीबाई फुले ने छोड़ा बीजेपी का साथ, कहा बीजेपी लोगों को तोड़ने का काम कर रही

भारतीय जनता पार्टी की संसद और अपने विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में रहने वाली सावित्री बाई फुले ने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

उत्तर प्रदेश: भारतीय जनता पार्टी की संसद और अपने विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में रहने वाली सावित्री बाई फुले ने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है। बहरीच के बीजेपी सांसद सावित्रीबाई फुले, का मनना है कि 'बीजेपी समाज में विभाजन बनाने की कोशिश कर रही है' | बता दें कि सावित्री बाई फूले यूपी के बहराइच से लोकसभा पहुंची हैं।

दरअसल बीते दिनों बीजेपी संसद सावित्री बाई फुले ने भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि वो बीजेपी की गुलाम नहीं है। फुले ने दावा किया कि भगवान हनुमान दलित थे इसलिए उन्हें अपमानित किया गया था। हमारा समाज हम दलितों को इंसान नहीं समझा जाता था। हमारे साथ हमेसा से पक्ष पात होता है।

सावित्री बाई फुले ने भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगते हुआ कहा था कि 'दलितों और पिछड़ों को बानर और रक्षक कहा जाता था। हनुमान एक इंसान थे लेकिन उन्हें बंदर बनाया गा। यह सब भगवान राम ने किया'।

आपको बता दें कि पिछले दिनों बीजेपी संसद ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर भी विवादित बयान दिया था। उन्होंने भगवन राम के बारे में कहा था कि अगर उनमें शक्ति होती तो अयोध्या में राम मंदिर बन जाता। उन्होंने राम मंदिर को मंदिर न बताते हुए देश के तीन प्रतिशत ब्रह्मिणों की अपवित्र कमाई का जरिया बताया था।

इससे पहले भी सावित्री बाई फुले ने आरक्षण के मुद्दे पर बीजेपी का घेराव किया था। उन्होंने कहा था कि वह बीजेपी की नहीं बल्कि दलित की बेटी हैं। उन्होंने कहा था कि आरक्षण खत्म होने की साजिश चल रही है।

दरअसल सावित्री बाई फुले ने भगवान हनुमान और राम मंदिर पर यह बयान तब दिया था जब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजस्थान के अलवर में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि भगवान हनुमान दलित और वनवासी थे। जिसके बाद यह विवाद बढ़ता गया। उत्तर प्रदेश के एक अन्य मंत्री ने भगवान हनुमान को आर्य बताया है।