क्या राम का नाम बना रिंकू शर्मा की मौत की वजह? आरोप तो यही लग रहे है

आरोपी भाजपा युवा मोर्चा कार्यकर्ता रिंकू शर्मा को घर से घसीटते हुए बाहर ले गए और चाकू घोंपकर कर दी हत्या
क्या राम का नाम बना रिंकू शर्मा की मौत की वजह? आरोप तो यही लग रहे है
क्या राम का नाम बना रिंकू शर्मा की मौत की वजह?Google Image

दुनिया भर में राम लोगों की प्रेरणा का स्रोत है लेकिन अगर यही राम नाम किसी व्यक्ति विशेष को खटक जाए तो बड़ी चिंता का विषय बन जाता है। दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में ऐसी ही दर्दनाक खबर सामने आई है। जहाँ पर रिंकू शर्मा नाम के युवक की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी गयी क्योंकि उसने अयोध्या के राम मंदिर के उपलक्ष्य में एक कार्यक्रम आयोजित किया था। हालांकि सीसीटीवी फुटेज और शिकायत के आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है लेकिन इस घटना के बाद लोगों के जेहन में कुछ सवाल तैरने लगे है जिनका जवाब सेक्युलर समाज के लोगों को देना होगा।

चाकुओं से गोदकर हुई हत्या:

बीती 11 फरवरी की रात पश्चिमी दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में रिंकू शर्मा नाम के युवक को घर मे घुसकर घर के लोगों के साथ मारपीट की गई और गैस सिलेंडर के माध्यम से आग जलाने का प्रयास किया गया। असफल रहने पर चार आरोपियों ने रिंकू शर्मा नाम के युवक को घेरकर चाकुओं से गोद डाला , आलम ऐसा रहा कि रिंकू के जिस्म पर लगा हुआ चाकू हॉस्पिटल तक पहुँचा अस्पताल में ही युवक रिंकू की मौत हो गयी। यही नही इस मामले मे रिंकू शर्मा के भाई और पिता ने जानकारी दी कि रिंकू को चाकुओं से गोदते वक्त आरोपी चिल्लाते नजर आए" और बोल जय श्री राम" और मृतक रिंकू शर्मा की माँ ने मीडिया को बताया कि इतना घायल होने के बाद भी रिंकू लगातार जय श्री राम चिल्लाता रहा और आरोपियों के पीछे दौड़ा भी।

आखिर कोई इतना क्रूर कैसे हो सकता है?

क्या भाजपा युवा मोर्चा से जुड़ना और आयोजन बना मौत का कारण?

इस मामले में मृतक के परिजनों ने सनसनीखेज खुलासे किए हैं मृतक के भाई और पिता ने बताया कि हमारा रिंकू भायुजमो का सक्रिय सदस्य था साथ ही बीते कुछ दिनों पहले जब रिंकू ने अयोध्या के राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा इकट्ठा करने हेतु मुहल्ले में एक छोटे कार्यक्रम का आयोजन किया था उसकी वजह से वह दूसरे धर्म के लोगों के निशाने पर आ चुका था। इससे पहले भी रिंकू को धमकियां मिल चुकी थी।

आरोपी की पत्नी की बचा चुका था जान:

किसी की जान बचाने का सिला मौत देकर चुकाना पड़े इसका उदाहरण कभी कम ही देखा होगा लेकिन ऐसा हुआ है, दरअसल इस विदारक हत्याकांड में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है जिसमें मोहम्मद इस्लाम मोहम्मद दानिश, मोहम्मद जाहिद और मोहम्मद मेहताब, यहां आपको बताते चले कि चारो आरोपी रिंकू से भलीभांति परिचित थे सभी आरोपियों में से एक इस्लाम की पत्नी बीते वक्त पहले डिलेवरी के वक्त खून की कमी की वजह से मरणासन्न स्थिति में पहुँच चुकी थी लेकिन दरियादिल रिंकू ने अस्पताल में पहुँचकर अपना खून दिया था। यही नही जब इस्लाम का भाई दिल्ली के कोरोना काल मे महामारी की बीमारी से संक्रमित हो गया था तब रिंकू ने ही इस्लाम के भाई को अस्पताल में भर्ती कराया था।

पुलिस ने कहा हर तथ्य पर जांच हो रही है:

मामले पर दिल्ली पुलिस ने धार्मिक एंगल होने की बात को अस्वीकार करते हुए कहा कि हर एंगल से जांच की जा रही है। पुलिस के अनुसार रिंकू एक ढाबे से जन्मदिन की पार्टी से लौट रहा था तभी कुछ विवाद हुआ था और इस घटना को अंजाम दिया गया। हालांकि इस मामले में एक तथ्य और सामने आया है पुलिस अपनी थ्योरी में जिस घटना को दर्शा रही है उस ढाबे के मालिक ने इस मामले पर साफ इंकार किया है और किसी तरह के जन्मदिन सेलिब्रेशन पर अनभिज्ञता जताई है। पुलिस ने अपने अगले बयान में कहा कि अभी हम इस मुद्दे पर अपनी कोई राय नही रख सकते, हालांकि जांच के बाद सब कुछ किलियर हो जाएगा।

हालांकि इस मामले पर राजनीतिक दलों समेत लोगों द्वारा सवाल खड़े किए जा रहे है कि क्या रिंकू के धर्म की वजह से उसे निशाना बनाया गया। लोगों ने यह भी आरोप लगाए की अगर रिंकू की जगह किसी दूसरे धर्म का व्यक्ति होता तो इस मामले पर अलग माहौल निकलकर सामने आता , लेकिन चुकी इस मुद्दे पर लाइमलाइट कम है इसलिए इसे तवज्जो नही दी जा रही।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

AD
No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com