उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Reliance New Business, Mukesh Ambani India’s first internet tycoon.
Reliance New Business, Mukesh Ambani India’s first internet tycoon.|Google
टॉप न्यूज़

क्या भारत में बंद हो जायेगा Google, Netflix और Amazon Prime, रिलायंस Jio ला रहा है नया चैनल 

जियो की सफल शुरुआत के बाद, मुकेश अम्बानी ने प्रतिद्वंद्वी दूरसंचार कंपनियों को पीछे छोड़ दिया और अब तक भारत में 28 करोड़ सशक्त यूजर्स बनाये हैं |

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: 5 सितंबर 2016 को रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने जियो की शुरुआत की थी। लॉन्च होने के बाद सिर्फ 83 दिनों के अंदर जियो ने पूरे देश से करीब 5 करोड़ लोगों को अपने साथ जोड़ कर टेलीकॉम की दुनिया में क्रंति ला दी थी। आज जियो के पास 28 करोड़ से अधिक ग्राहक हैं। जहां एक तरफ इस कंपनी ने बेलगाम टेलीकॉम सेक्टर पर काबू किया वहीं दूसरी तरफ भारतीय टेलीकॉम सेक्टर के उत्थान में कारगर भूमिका भी निभाई।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी अब देश के पहले इंटरनेट टायकून बनाना चाहते हैं। द इकॉनमिस्ट ने यह बात कही है। द इकॉनमिस्ट ने अपने नवीनतम 26 जनवरी के संस्करण में कहा, "अपने जियो सर्विस के साथ उन्होंने भारतीय दूरसंचार का उत्थान किया और अपने देश को बदल दिया। अब वे और आगे बढ़ना चाहते हैं और जियो को लांच पैड के रूप में इस्तेमाल कर वे भारत के जेफ बेजोस या जैक मा बनना चाहते हैं।"

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के मुताबिक, पिछले साल नवंबर में भारतीय मोबाइल फोन उपभोक्ताओं की कुल संख्या 1.17 अरब थी। वहीं, ब्राडबैंड यूजर्स की संख्या 50 करोड़ से अधिक हो गई है, जिसमें 97 फीसदी वायरलेस कनेक्शन रखते हैं।

जियो ने अकेले 28 करोड़ ग्राहक जोड़े हैं, जिसमें कंपनी का बेहद सस्ते डेटा प्लान की प्रमुख भूमिका है।

रिपोर्ट में कहा गया है, "उनकी महत्वाकांक्षा दूरसंचार व्यापार से पैसे बनाने से कहीं अधिक एक टेक टायकून बनने की है। आरआईएल ने कंटेट के सृजन में पहले ही भारी निवेश किया है, और क्रिकेट मैचों और डिज्नी फिल्म के प्रसारण अधिकार अपने 'जियो टीवी' प्लेटफार्म के लिए खरीदे हैं।"

मुकेश अंबानी ने 18 जनवरी को 'वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल सम्मिट 2019' में घोषणा की थी कि रिलायंस अगले एक दशक में निवेश और रोजगार की संख्या दोगुनी करेगी।

--आईएएनएस