Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
सुब्रमण्यम स्वामी
सुब्रमण्यम स्वामी|Google
टॉप न्यूज़

सुब्रमण्यम स्वामी ने दी मोदी सरकार को वार्निंग, राम मंदिर का विरोध किया तो गिरा दूंगा सरकार 

बीजेपी से राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने केंद्र की मोदी सरकार को वार्निंग दी राम मंदिर नहीं बना तो गिरा दूंगा सरकार। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

देश में राम मंदिर निर्माण को लेकर जनता का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। अब भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला है। सुब्रमण्यम स्वामी ने पीएम मोदी और योगी को अपना विरोधी बताते हुआ कहा कि 'अगर उन्होंने निर्माण में वाधा उत्पन्न की तो मैं केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश की राज्य सरकार दोनों को गिरा दूंगा।

दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्विद्यालय (JNU) में एक कार्यक्रम में भाग लेने गए सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि 'राम मंदिर निर्माण का मामला सुप्रीम कोर्ट में सूचीबद्ध है , जनवरी में सुनवाई होनी है यह मामला तो हम दो हफ़्तों के भीतर ही जीत लेंगे। हालांकि केंद्र की मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार मेरे विरोध में है , पर क्या उनके पास मेरा विरोध करने का दम है ? अगर उन्होंने ऐसा कर भी लिया तो मैं केंद्र और राज्य दोनों की सरकारें गिरा दूंगा। हालांकि वो मेरा विरोध नहीं करेंगें मुझे पता है।

आपको बता दें कि, राम मंदिर भूमि विवाद मामला सुप्रीम कोर्ट में सूचीबद्ध है बावजूद इस मामले में राजनीति की जा रही है। बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा और मनोज तिवारी ने दावा किया है कि वे संसद के शीतकालीन सत्र में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए प्राइवेट बिल पेश करेंगें। हालांकि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने किसी भी पार्टी नेताओं द्वारा प्राइवेट बिल लाने से साफ मना कर दिया है।

वहीं जगद्गुरु रामानंदाचार्य स्वामी रामभद्राचार्य ने हाल ही में एक धर्मसभा को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने केंद्र सरकार के एक बड़े मंत्री का हवाला देते हुए कहा था कि उन्होंने भरोसा दिलाया है कि 11 दिसंबर से 12 जनवरी तक राम मंदिर पर बड़ा फैसला होगा। विश्व हिंदू परिषद, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, बजरंग दल और शिवसेना सहित कई राजनीतिक पार्टियों ने राम मंदिर निर्माण मुद्दे को उठाया है। सभी पार्टियां अब एक मत हो कर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कराना चाहती है।