Rajiv Gandhi Foundation Funding
Rajiv Gandhi Foundation Funding|Google Image
टॉप न्यूज़

कांग्रेस के गले पड़ी मेहुल चौकसी की आफत, जवाब देना मुश्किल होगा

कांग्रेस के सत्ता से छह वर्ष दूर रहने के बावजूद, सोनिया गांधी की अध्यक्षता वाले राजीव गांधी फाउंडेशन को इंडियन व्यापार जगत के शीर्ष दिग्गजों से चंदे मिले हैं।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

जो कांग्रेस इतने दिनों से भगौड़े मेहुल चौकसी को लेकर भाजपा पर मुखर हमले कर रही थी अब कांग्रेस के राजीव गांधी फाऊंडेशन में मेहुल चौकसी के द्वारा दिये गए चंदे के सुबूत मिलने के बाद कांग्रेस को मुँह छिपाने की पड़ी है। देखना यह होगा कि पीएम केयर्स पर भाजपा और मोदी से हिसाब मांगने वाली पार्टी अपने ऊपर लगे हुए आरोपों का जवाब कैसे देगी?

भगोड़े ने दिया था फाऊंडेशन को डोनेशन:

कांग्रेस द्वारा स्थापित राजीव गांधी फाऊंडेशन को प्रसिद्ध भगोड़े हीरा व्यापारी मेहुल चौकसी के द्वारा डोनेशन दिए जाने के बाद कांग्रेस पर आरोपों की झड़ी लगना बेहद आम होगा, बीते शनिवार भाजपा ने कांग्रेस पर मेहुल चौकसी के ही मालिकाना हक वाली कंपनी नविराज स्टेट प्राइवेट लिमिटेड द्वारा चंदा देने का आरोप लगाया है। हालांकि मेहुल चौकसी की कंपनी के द्वारा कांग्रेस के राजीव गांधी फाउंडेशन को कितना चंदा दिया गया है इसकी राशि ज्ञात नही है।

राजीव गाँधी फाउंडेशन ने 2013-15 के लिए वार्षिक रपट एकसाथ जारी किए, जिसमें डोनर के रूप में आदित्य विक्रम बिरला मेमोरियल ट्रस्ट, एपीजे ट्रस्ट, भारत फोर्ज लिमिटेड, बिल एंड मलिंडा गेट्स फाउंडेशन, क्रिस्टी फ्रीजग्राम इंडस्ट्री, डीसीएम श्रीराम कंसोलिडेटेड लिमिटेड, गेल इंडिया लिमिटेड, जीवीके एयरपोर्ट फाउंडेशन, इंडियन मेटल्स पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट, महिंद्रा टू व्हीलर्स लिमिटेड, नवीराज एस्टेट्स प्रावेट लिमिटेड, ऑयल एंड नेचुलरल गैस कॉरपोरेशन, पटेल इंजीनियरिंग लिमिटेड, पेट्टोन इंटरनेशनल लिमिटेड, पिरोजशा गोदरेज फाउंडेशन, एसबीआई, सेल ,टाटा स्टील लिमिटेड शामिल हैं।

2015-16 के लिए, डोनर में भारत फोर्ज लिमिटेड, डीसीएम श्रीराम कंसोलिडेटेड लिमिटेड, जीवीके एयरपोर्ट फाउंडेशन, इंडसइंड बैंक, मैंक्स इंडिया फाउंडेशन, पेट्टोन इंटरनेशनल लिमिटेड, पिरोजशा गोदरेज फाउंडेशन, एसआरएसफ लिमिटेड और टाटा स्टील लिमिटेड शामिल हैं।

2016-17 के लिए जिन डोनरों के नाम शामिल हैं, उनमें डीसीएम श्रीराम लिमिटेड, पेट्टोन इंटरनेशनल लिमिटेड, जीवीके एयरपोर्ट फाउंडेशन, भारत फोर्ज लिमिटेड, मैंक्स इंडिया फाउंडेशन, टाटा स्टील लिमिटेड, पिरोजशा गोदरेज फाउंडेशन, यस बैंक लिमिटेड, टीवीएस मोटर कंपनी लिमिटेड, होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूलटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और क्रिस्टी फ्रीजग्राम इंडस्ट्री शामिल हैं।

वर्ष 2017-18 के लिए डोनर के रूप में टाटा स्टील लिमिटेड, डीसीएम श्रीराम लिमिटेड, मैक्स इंडिया फाउंडेशन, पिरोजशा गोदरोज फाउंडेशन, पेट्टोन इंटरनेशनल लिमिटेड, मुथूट फाइनेंस लिमिटेड, भारत फोर्ज लिमिटेड, टीवीएस मोटर कंपनी लिमिटेड, होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और क्रिस्टी फ्रीजग्राम इंडस्ट्री शामिल हैं।

जिस मेहुल चौकसी के ऊपर कांग्रेस लंबे वक्त से यह आरोप लगा रही थी कि उसके भागने में भाजपा ने मदद की है लेकिन अब इस मामले पर कांग्रेस खुद घिरती नजर आ रही है। हालाँकि कांग्रेस इस मुद्दे पर अपना बचाव कैसे करती है यह देखना रोचक होगा।

ज्ञात हो कि प्रसिद्द हीरा और आभूषण व्यापारी पंजाब नेशनल बैंक समेत अन्य बैंको को चूना लगाकर देश से बाहर निकल गया था और इसी मेहुल की फरारी के बाद कांग्रेस भाजपा से तार जोड़ने की कोशिश कर रही थी। अब इस मामले को लेकर भाजपा के वर्तमान अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस पर संगीन आरोप लगाए हैं।

जेपी नड्डा ने आरोप लगाते हुए सुबूत साझा किए कि खुद कांग्रेस ने दान के नाम पर पीएम रिलीफ फंड का दुरुपयोग करते हुए राजीव गांधी फाऊंडेशन को भी लगातार दान किया।

चीन से जुड़े तारो पर कांग्रेस खामोश:

बात यहीं तक सीमित नहीं रही बल्कि भाजपा के सोशल मीडिया प्रभारी अमित मालवीय द्वारा कांग्रेस और चीन के बेहद सीक्रेट संगठन "चायना एसोसिएशन फ़ॉर इंटरनेशनल फ्रेंडली कॉन्टेक्ट (CAFIC) से रिश्ते खोलने के बाद कांग्रेस के नेताओं को जवाब देते नहीं बन रहा है। मालवीय ने खुलासा किया कि यह फाऊंडेशन कांग्रेस के एक दिखावी कंपनी ( शेल कंपनी ) की तरह कार्य कर रही था जिसका मुख्य मकसद लोगों से चंदा लेकर निजी उपयोग ( पार्टी और निजी) में लाने तक सीमित था। मालवीय ने जानकारी उपलब्ध कराई कि इस फॉउंडेशन द्वारा सरकारी संरक्षण के नाम पर देशी, विदेशी कंपनियों सार्वजनिक कंपनियों से भारी भरकम रकम वसूली गयी। ज्ञात हो कि सन 1992 में इस फाउंडेशन को बनाया गया था जिसके बावजूद 18 साल लंबे समय मे भी केवल 2900 के आस पास लोगों को ही मदद पहुँचाने के आंकड़े सांमने आये है। जबकि इस दौरान भारत मे ही एसबीआई, ओएनजीसी, गेल, सेल, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, आईडीबीआई और हुडको इत्यादि नाम शामिल है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com