Rahul Gandhi on Pulwama Attack
Rahul Gandhi on Pulwama Attack|Uday Bulletin
टॉप न्यूज़

सैनिकों की शहादत में फायदा खोज रहे राहुल गाँधी, ट्वीट कर जख्मों पर नमक छिड़क रहे हैं?

अब इसको बचकानी हरकत कहा जाए या राजनैतिक हताशा, पिछले लंबे समय से राहुल गांधी एक शून्यता से गुजर रहे हैं। इसी बीच उनके द्वारा किये जाने वाले सवाल उन्हीं के गले की फांस बनते जा रहे है। 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

राहुल गांधी वर्तमान में कांग्रेस की धुरी की तरह है लेकिन जिस तरह की राजनीति में वो उतर आए हैं उसे देखकर ऐसा लगता है कि उनका बचपना शायद अभी तक गया नहीं है या फिर इसे विरोधाभास की राजनीति कहना सही रहेगा या फिर इसे हर हालत में राजनीति घुसेड़ना माना जाए।

ताजा मामला पुलवाम सीआरपीएफ के काफिले में हुए हमले को लेकर है जिसको लेकर राहुल गांधी ने जनता से सवाल किया है, लेकिन यही ट्वीट उनकी मंशा पर पानी फेर गया दरअसल उन्होंने अपने ट्वीट में लोगों से पूँछा कि "पुलवामा अटैक से सबसे ज्यादा फायदा किसे हुआ ?" इसका सीधा-सीधा मतलब है कि क्या यह घटना राजनीतिक मुद्दे साधने के लिए कराई गई थी।

यहाँ आपको बताते चले कि राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में सबसे पहले शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की उसके बाद मिश्रित भावना वाले वाक्यों का समावेश किया जिसमें जवानों की मौत से किसको फायदा हुआ यह सवाल पूँछा और उसके बाद यह जानकारी मांगी की इस मामले की जांच में क्या सामने आया ?

साथ ही राहुल गांधी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए पूँछा कि भाजपा के अंदर कौन व्यक्ति इस घटना में हुई सुरक्षा चूक की जिम्मेदारी लेगा ?

हालांकि इस ट्वीट के बाद लोगों के जवाब-सवाल की बाढ़ सी आ गयी, लोगों ने राहुल गांधी से ही सवाल दाग दिए।

प्रशांत पटेल उमराव ने राहुल गांधी से राहुल की जुबान वाला ही सवाल दाग दिया:

सनद रहे कि प्रशांत पटेल ने जिन हत्याओं के बारे मे जिक्र किया उनकी तमाम विवादित कहानियां हैं जो समय-समय पर उठती रहती है, हालाँकि इनमें कितनी सच्चाई है ये तो ईश्वर ही जानता है।

प्रशांत मोहपात्रा नामक ट्वीटर यूजर ने राहुल गांधी की सैनिकों के प्रति संवेदना पर ही सवाल खड़ा कर दिया:

जो भी हो भारत ने अपने सैनिकों की जान बेहद अलग परिस्थितियों में गंवाई थी। इस घटना को लेकर पूरे देश मे एक तरह की आंधी सी उठ गई थी, शायद यही कारण था कि भारत के प्रधानमंत्री को खुली रैलियों में यह कहना पड़ा था कि हम जवाब देंगे और इसका वक्त भी हमी तय करेंगे। और उसके बाद ऐसा हुआ भी भारत ने एयर स्ट्राइक करके जैश ए मोहम्मद के तमाम ठिकानों पर बमबारी की थी जिसकी वजह से पाकिस्तान पोषित करीब तीन सैकड़ा आतंकियों को अपनी जान से हाँथ धोना पड़ा था।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com