उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Sadhvi Pragya Singh Thakur talks to media
Sadhvi Pragya Singh Thakur talks to media|ians
टॉप न्यूज़

गोडसे मामले पर भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने लोकसभा में माफी मांगी 

दवाव में आकर बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर माफ़ी मांग ली, क्या एक बार फिर पीएम मोदी भी प्रज्ञा को माफ़ कर देंगे? 

Ashutosh

Ashutosh

भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे पर उनके द्वारा की गई टिप्पणी के लिए शुक्रवार को लोकसभा में माफी मांगी। प्रज्ञा ने कहा कि अगर उनके बयान से किसी को ठेस पहुंची है, तो वह माफी मांगती हैं। इसके साथ ही उन्होंने सफाई दी कि उनकी टिप्पणी को गलत तरीके से तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया। मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी भोपाल की सांसद ने बाद में कहा कि वह देश के लिए महात्मा गांधी की सेवा का सम्मान करती हैं। उन्होंने अपने बयान की व्याख्या करने के तरीके की निंदा भी की।

प्रज्ञा ठाकुर ने कहा, "अगर मेरे द्वारा सदन में दिए गए किसी भी बयान से किसी भी व्यक्ति को ठेस पहुंची है तो मैं खेद प्रकट करते हुए माफी मांगती हूं। लेकिन मैं यह भी कहना चाहती हूं कि संसद में दिए गए मेरे बयान को गलत तरीके से तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया।"

उन्होंने कहा, "जिस तरह से मेरा बयान पेश किया गया, वह निंदनीय है। मैं देश के लिए महात्मा गांधी द्वारा की गई सेवा का सम्मान करती हूं।"

ठाकुर ने यह भी याद दिलाया कि सदन के एक वरिष्ठ सदस्य ने उन्हें सार्वजनिक रूप से आतंकवादी कहा और पिछली सरकार ने उनके खिलाफ घृणा की साजिश रच कर उन्हें यातनाएं दी।

प्रज्ञा ने कहा, "सदन के एक वरिष्ठ सदस्य ने मुझे सार्वजनिक रूप से आतंकवादी कहा। मेरे खिलाफ तत्कालीन सरकार द्वारा रची गई साजिश के बावजूद अभी तक अदालत में कोई भी आरोप साबित नहीं हुआ है।"

उन्होंने कहा, "मुझे दोषी साबित किए बिना आतंकवादी कहना कानून के खिलाफ है। यह एक महिला के रूप में, एक संत के रूप में और एक संसद सदस्य के रूप में मेरा अपमान करने की कोशिश है।"

प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी के बाद विपक्ष ने काफी हंगामा खड़ा किया था और उनसे माफी की मांग की थी।

भाजपा नेतृत्व ने गुरुवार को ठाकुर की टिप्पणी पर उन्हें दंडित किया और उन्हें रक्षा मंत्रालय की सलाहकार समिति से हटा दिया और मौजूदा शीतकालीन सत्र में उन्हें पार्टी संसदीय दल की बैठकों में शामिल नहीं होने से भी रोक दिया।