फ्रांस में बोले पीएम मोदी ‘भारत में अब टेम्पररी कुछ भी नहीं’ लोग बोले ‘मोदी है तो मुमकिन है’

फ्रांस में बोले पीएम -देश चल पड़ा है, चलता रहेगा !
फ्रांस में बोले पीएम मोदी ‘भारत में अब टेम्पररी कुछ भी नहीं’ लोग बोले ‘मोदी है तो मुमकिन है’
फ्रांस के भारतीय के बीच पीएम मोदी Social Media

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी-7 सम्मलेन में हिस्सा लेने के लिए आज फ्रांस की राजधानी पेरिस के दौरे पर हैं। जहां आज उन्होंने फ्रांस में रहने वाले भारतीयों के बीच जाकर अपनी बात रखी। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत एक स्मारक के उद्घाटन के साथ की। पीएम ने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान भारत-फ्रांस के रिश्तों को याद दिलाते हुए कहा कि 'प्रथम विश्व युद्ध के दौरान मानवता की रक्षा के लिए भारत के 9 हज़ार वीर सैनिकों ने फ्रांस के लिए लड़ते हुए अपनी जान दे दी थी। हमें इस 9 हज़ार को हमेशा याद रखना चाहिए। भारत और फ्रांस का रिश्ता हमारे लिए गौरव है।’

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में भारतीयों से कहा कि 'भारत देश से आपका रिश्ता मिट्टी से है और फ्रांस से आपका रिश्ता मेहनत से है। यहां रहने वाले भारतीयों की सफलता से भारत और फ्रांस दोनों देश गौरवांवित महसूस करता है। जब फ्रांस की फुटबॉल टीम वर्ल्ड कप जीती थी तो जश्न भारत में मनाया गया था।’

हमने अपना गोल पूरा किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने शासन की उपलब्धियों को याद दिलाते हुए कहा कि 'हमारी सरकार को अभी सिर्फ 75 दिन हुए हैं लेकिन हमने इसबार रिकॉर्ड तोड़ काम किया है। दूसरी सरकारें अब तक अपने मंत्रिमंडल का विस्तार ही कर रही होती। हमारी सरकार ने दुनिया का सबसे बड़ा हेल्थ स्कीम लांच किया, दुनिया में सबसे ज्यादा बैंक खाते हमारी सरकार ने खुलवाए। मुस्लिम बहनों को उनका अधिकार देते हुए हमने तीन तलाक को रद्द किया। पूरी दुनिया कहती है हम टीवी पर 2050 तक काबू कर लेंगे लेकिन हमारी योजना 2030 तक ही इस बीमारी को खत्म कर देगी।

अनुच्छेद 370 पर पीएम का कांग्रेस पर तंज

प्रधानमंत्री ने कहा कि 'इन दिनों फ्रांस में राम नाम की धूम है, कुछ दिन बाद ये मिनी इंडिया बन कर गणेश चतुर्थी का जश्न भी मनाएगा। बापू की वजह से लोग राम भक्ति में डूब गए, जो लोग भगवान इंद्र के लिए नहीं बदलते वो अब नरेंद्र के समय में बदल चुके हैं।

जम्मू-कश्मीर पर बोलते हुए पीएम ने कहा कि भारत से अस्थायी निकालने में हमें 70 साल लग गए, अब भारत में सब कुछ स्थाई है। लोग कहते हैं कि नेता वादे भूल जाते है, मैं ऐसा नेता हूं जो खुद को वादा याद दिलाने आया हूं।'

प्रधानमंत्री ने कहा कि 'हमारे भारत देश में 125 करोड़ लोग हैं, जो गांधी, बुद्ध, महावीर, राम और कृष्ण को मानते हैं। गांधी की कर्मभूमि से हमें अस्थायी निकालने में 70 साल लग गए, जब ये ख़त्म हुआ तो मुझे समझ में नहीं आ रहा था कि हंसना है या रोना है। देश अब आगे बढ़ेगा, परमानेंट व्यवस्थाओं के साथ तरक्की करेगा। जम्मू-कश्मीर को जो अनुच्छेद विशेष राज्य का दर्जा देते थे उन्हें कमजोर का दिया गया है। अब पूरे देश में एक जैसे नियम लागू होंगे।

आपको बता दें कि, मोदी सरकार ने 5 अगस्त को राज्यसभा और 6 अगस्त को लोगसभा में बिल पास कर जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया था। जिसके बाद प्रधानमंत्री मोदी का यह पहला अंतरराष्ट्रीय संबोधन है। पूरी दुनिया इस मामले में प्रधानमंत्री के बयान का इंतज़ार कर रही थी और आज प्रधानमंत्री ने इस मामले में अपने विचार दुनिया से सामने रखें हैं।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com