Patanjali Corona Medicine
Patanjali Corona Medicine|Uday Bulletin
टॉप न्यूज़

वैज्ञानिक प्रमाणों के साथ आज लांच होगी पतंजलि द्वारा बनाई गई कोरोना की दवा

कोरोना को हराने के लिए पतंजलि की दवा मार्केट में आने वाली है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

पतंजलि योगपीठ और इस न्यास से जुड़ी हुई आयुर्वेद की शाखा पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट और दिव्य फार्मेसी हरिद्वार में आयुर्वेदिक दवाओं के द्वारा कोरोना निदान हेतु किये गए कंट्रोल क्लिनिकल ट्रायल के नतीजे पेश किये जायेंगे इसी दौरान पतंजलि योगपीठ के द्वारा निर्मित दवा "कोरोनिल" लांच की जा सकती है।

बाबा रामदेव कर चुके है घोषणा:

इस मामले में योगगुरु बाबा रामदेव पहले ही कई मंचो से कोरोना निदान के लिए आयुर्वेदिक महत्ता को उजागर कर चुके है बीते दिनों ही योगगुरु ने अश्वगंधा, शिलाजीत और गिलोय जैसी दवाओं के माध्यम से कोरोना निदान के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई थी। अब 23 जून के दिन दोपहर में करीब 1 बजे योगपीठ में निम्स (जयपुर ) और पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट के साथ मिलकर किये गए क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल के नतीजे देश और दुनिया के सामने रखे जाएंगे। जिससे दुनिया को कोरोना से लड़ने के लिए एक सफल और हानि रहित हथियार मिल सके। हाल फिलहाल में दुनिया भर में कोरोना को लेकर तमाम दावे किए जा रहे है कई दवा उत्पादक कंपनियां दवाओं के निर्माण में आखिरी चरण पर है और पतंजलि खुद की बनाई हुई दवा के ट्रायल के नतीजे तक पेश करने जा रहा है, देखने लायक बात यह होगी कि अगर दवा के ट्रायल के नतीजे चामत्कारिक हुए तो यह इस सदी की सबसे बड़ी खोज मानी जायेगी।

पतंजलि ने ही किया है निर्माण:

पतंजलि की कोरोना निवारक औषधि जिसे "कोरोनिल" के नाम से जाना जा रहा है उसका निर्माण पतंजलि योगपीठ की ही सह कंपनियों दिव्य फार्मेसी और पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड ने किया है। जानकारों के मुताबिक योगगुरु इस दवा को लेकर बेहद उत्साहित है और इस दवा ने ट्रायल में बेहद सकारात्मक नतीजे उपलब्ध कराए हैं। इस दवा के निर्माण में गिलोय (अमृता), अश्वगंधा, शिलाजीत और अन्य प्रमुख और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली औषधीय जड़ी बूटियों का उपयोग किया गया है। इस क्लिनिकल ट्रायल की रिपोर्ट को पतंजलि योगपीठ हरिद्वार में जनता के साथ साझा किया जाएगा।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com