उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
शहीदों को श्रद्धांजलि देते प्रधानमंत्री मोदी 
शहीदों को श्रद्धांजलि देते प्रधानमंत्री मोदी |Google
टॉप न्यूज़

संसद हमले की 17वीं बरसी: नेताओं ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि दी, पीएम ने किया शहीदों की वीरता को सलाम

आज ही के दिन 17 साल पहले हमारे देश के ‘लोकतंत्र के मंदिर’ संसद भवन पर आतंकियों ने हमला किया था, जिसे बचाने के लिए देश के जाबांज सिपाहियों ने अपनी जान की बाजी लगा दी थी।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: आज ही दिन 17 साल पहले 13 दिसंबर 2001 को पाक-आतंकियों ने हमारे देश के 'लोकतंत्र के मंदिर' संसद भवन पर हमला किया था। आतंकी संसद भवन के अंदर घुसकर गोलाबारी करने लगे थे। पाक आतंकियों की इस नापाक मंशा को नाकामियाब बनाने के लिए भारतीय सेना के जवानों ने अपने बहुमूल्य जान की क़ुरबानी दे दी थी। इस आतंकी हमले में दिल्ली पुलिस के पांच जवान ,दो पार्लियामेंट सिक्यूरिटी सर्विस के सदस्‍य शहीद हो गए थे। इसके अलावा संसद भवन में काम करने वाले एक कर्मचारी की मौत भी हुए थी। वहीं जवाबी करवाई में संसद भवन पर हमला करने वाले पांच आतंकियों को भारतीय सिपाहियों ने मौत के घाट उतार दिया था।

नेताओं ने किया याद

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके पूर्ववर्ती मनमोहन सिंह, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित कई नेताओं ने गुरुवार को 2001 संसद हमले की बरसी पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। नेताओं ने संसद में इस हमले में शहीद हुए दिल्ली पुलिस के छह, संसद की सुरक्षा सेवा के दो कर्मियों और एक माली को पुष्पांजलि अर्पित की।

प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति कोविंद ने किया शहीदों की वीरता को नमन

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, "भारत 2001 में इसी दिन आतंकवादियों से संसद की रक्षा के लिए शहीदों का आभारी है।"उन्होंने कहा, "भारत के लोकतंत्र और लोकतांत्रिक मूल्यों को निशाना बनाया गया, जिसमें वे सफल नहीं हुए और हम उन्हें कभी सफल नहीं होने देंगे।" वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने शहीद वीरों को याद करते हुए कहा कि 'इन वीरों की बहादुरी लोगों को प्रेरणा देती है। प्रधानमंत्री मोदी ने सुरक्षा कर्मियों के साहस को याद किया। उन्होंने कहा, ‘हम उन लोगों की बहादुरी को सलाम करते हैं, जिन्होंने 2001 में इसी दिन हमारे संसद पर हुए नृशंस हमले के दौरान शहीद हो गए थे। उनकी हिम्मत और वीरता हर भारतीय को प्रेरित करती है।

गौरतलब है कि 13 दिसंबर 2001 को पांच आतंकवादियों ने संसद भवन परिसर में घुसपैठ की और स्वचालित हथियारों के साथ गोलीबारी शुरू कर दी। इस हमले में पांच आतंकवादियों को मार गिराया गया था। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, भाजपा के वरिष्ठ नेता एल.के.आडवाणी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, सीपीआई के राष्ट्रीय सचिव डी.राजा और विभिन्न दलों के सदस्यों ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी।