उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल|IANS
टॉप न्यूज़

पंजाब में पराली-दहन है दिल्ली में प्रदूषण का कारण : केजरीवाल

पंजाब में पराली-दहन से 25 अक्टूबर से दिल्ली में प्रदूषण बढ़ा  

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

चंडीगढ़ | दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को पंजाब सरकार पर पराली-दहन पर रोक लगाने में विफल होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पंजाब में पराली-दहन के कारण राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 25 अक्टूबर के बाद प्रदूषण बढ़ा है। अरविंद केजरीवाल ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा, "हमने देखा है कि 25 अक्टूबर के बाद प्रदूषण का स्तर असामान्य ढंग से बढ़ा है। यह और किसी वजह से नहीं बल्कि पंजाब में पराली-दहन के कारण बढ़ा है।"

पंजाब में पराली-दहन की उपग्रहीय तस्वीर देखने का दावा करने वाले केजरीवाल ने कहा कि हरियाणा के मुकाबले पंजाब में पराली-दहन की घटनाएं ज्यादा हुई हैं।

उन्होंने कहा, "तस्वीर में भठिंडा, अमृतसर और पंजाब के अन्य जिलों में पराली-दहन दिखता है। हरियाणा में अंबाला के चारों ओर उत्तरी हरियणा क्षेत्र में भी यह सीमित है।"

उन्होंने कहा कि पंजाब में सरकार और प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरणों को पराली-दहन के खतरों को गंभीरता से लेना चाहिए और हर साल की इस समस्या का स्थायी समाधान तलाशना चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे दिल्ली में भारी प्रदूषण होता है।

उन्होंने कहा, "दिल्ली में 25 अक्टूबर के बाद न तो वाहन से होने वाला प्रदूषण बढ़ा है और न ही कोई ज्यादा उद्योग लगाए गए हैं। धूल की भी समस्या पैदा नहीं हुई है। लेकिन पंजाब में पराली-दहन के कारण वायु की गुणवत्ता खराब हो गई है।"

उन्होंने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने पहले भरोसा दिलाया था कि प्रदेश में इस साल पराली-दहन कम होगी और उपग्रहीय तस्वीर से जाहिर है कि सचमुच हरियाणा में इस बार पराली-दहन में कमी आई है।

केजरीवाल ने कहा, "मैंने केंद्रीय पर्यावरण मंत्री हर्षवर्धन से कुछ महीने पहले मुलाकात कर इस समस्या को लेकर विचार-विमर्श किया। उन्होंने मुझे भरोसा दिलाया कि समस्या समाप्त हो जाएगी, क्योंकि फसलों के अवशेष की समस्या से निजात पाने के लिए पंचायतों को हैप्पी सीडर मशीन प्रदान की जाएगी।"

--आईएएनएस