उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे|IANS
टॉप न्यूज़

प्रधानमंत्री ने दिया ‘मजबूत भारत मजबूत जापान’ का नारा, जापानी कारोबारियों को भारत में निवेश का निमंत्रण

आबे ने कहा कि जापान और भारत का सहयोग सुरक्षा, निवेश, सूचना प्रौद्योगिकी, कृषि, स्वास्थ्य, पर्यावरण और पर्यटन जैसे कई क्षेत्रों में लगातार बढ़ रहा है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

टोक्यो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को जापान के कारोबारियों को भारत में अधिक से अधिक निवेश करने के लिए आमंत्रित किया। मोदी ने व्यापार मंच शिखर सम्मेलन में कारोबारियों से बातचीत के दौरान कहा, "मैं हमेशा 'मजबूत भारत मजबूत जापान' के बारे में बात करता हूं। इस मौके पर जापानी व्यापारियों के भारत में विश्वास दिखाने के लिए मैं उनके प्रति आभार प्रकट करता हूं। मैं आप सभी को निवेश प्रक्रिया को तेज करने के लिए भारत के साथ मिल कर काम करने के लिए आमंत्रित करता हूं।"

मोदी अपने जापानी समकक्ष शिंजो आबे के साथ द्विपक्षीय वार्षिक शिखर सम्मेलन के लिए शनिवार को यहां पहुंचे।

मोदी ने कहा, "कुछ साल पहले मैंने भारत में एक मिनी जापान बनाने के बारे में कहा था। यह मेरे लिए बहुत खुशी की बात है कि आज आप बड़ी संख्या में भारत में काम कर रहे हैं।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापान सरकार व कंपनियों के प्रति आभार जताया। मोदी ने कहा, "जापान के भारत के साथ सहयोग की वजह से हमारी दिल्ली-मुंबई औद्योगिक गलियारा परियोजना आगे बढ़ रही है।"

इसी बीच जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने महान देश के एक उत्कृष्ट नेता हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के लिए कहा, “मेरा हमेशा से मानना रहा है और मैंने कहा है कि जापान एवं भारत के बीच के संबंध विश्व में सबसे बड़ी संभावना से समृद्ध है।” आबे ने कहा कि जापान और भारत का सहयोग सुरक्षा, निवेश, सूचना प्रौद्योगिकी, कृषि, स्वास्थ्य, पर्यावरण और पर्यटन जैसे कई क्षेत्रों में लगातार बढ़ रहा है।

मोदी ने कहा कि मेक इन इंडिया पहल के तहत भारत में एक विनिर्माण केंद्र बनने की संभावना है।

मोदी ने कहा, "मैंने हमेशा से व्यापार करने में सहजता को अपनी प्राथमिकता में रखा है। जब हमने 2014 में सरकार की जिम्मेदारी संभाली थी तो विश्व बैंक ने भारत को व्यापार करने में सहजता की रैंकिंग में 140वां स्थान दिया था। अब भारत 100वें स्थान पर पहुंच चुका है और हम बेहतर रैंकिंग बनाने के लिए काम कर रहे हैं।"

आपको बता दें , कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सम्मेलन के लिए जापान का तीसरा दौरा है और 2014 से आबे के साथ 12वीं मुलाकात है।