दिल्ली सरकार पर लगा कोरोना काल मे कमाई करने का आरोप, 66 हजार रुपये में खरीदे 2 पल्स ऑक्सीमीटर

खुद को दुनिया का सबसे ईमानदार नेता बताने वाले अरविन्द केजरीवाल की सरकार पर भ्रस्टाचार करने के गंभीर आरोप लग रहे हैं
दिल्ली सरकार पर लगा कोरोना काल मे कमाई करने का आरोप, 66 हजार रुपये में खरीदे 2 पल्स ऑक्सीमीटर
दिल्ली सरकार पर लगा कोरोना काल मे कमाई करने का आरोपuday bulletin

राजनीति में आपदा को अवसर बनाना कोई बड़ी बात नही, फिर चाहे वह बिहार का चारा भूसा घोटाला हो या शहीदों के कफन का मामला या फिर बोफोर्स, लेकिन ताजा मामला दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार से जुड़ा हुआ है। जिसमें कथित तौर पर मेडिकल उपकरणों की खरीद पर भयानक लूट खसोट मचाई गयी"

भाजपा ने लगाए आरोप:

एक ओर जहां आम आदमी पार्टी भाजपा के विरोध के चलते दिल्ली और एनसीआर में किसानों के साथ खड़े होकर किसानों के समर्थन कर रही है वही अब दिल्ली में सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी की सरकार पर कड़ा आरोप लगा है। आरोपों के अनुसार सरकार ने कोरोना काल में मेडिकल उपकरणों की खरीदी पर अनाप-सनाप रुपया पानी की तरह बहाया।

भाजपा ने दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार पर आरोप लगाते हुए सुबूत मुहैया कराए है कि खुदरा बाजार में 500 से लेकर 1000 तक की कीमत में मिलने वाला पल्स ऑक्सीमीटर डिवाइस दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा 66320 रुपये में दो खरीदे गए।

भाजपा ने आरोप लगाया कि यह मात्र एक उपकरण की कीमत है जिसके चलते इस बेहद बड़े घोटाले का पर्दाफाश होना शुरू हुआ है अगर इस मामले में सघन जांच की जाए तो सरकार बेनकाब हो जाएगी।

आम आदमी पार्टी के समर्थकों का जवाब:

हालांकि इस मामले पर आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह द्वारा एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस मामले पर सुबूत लेकर जांच कराने की बात कह कर पल्ला झाड़ लिया लेकिन आम आदमी पार्टी के समर्थको द्वारा इसे मोदी सरकार द्वारा फैलाया गया भ्रम बताया जा रहा है, समर्थको के अनुसार इन उपकरणों की खरीद फरोख्त केंद्र सरकार द्वारा बनाये गए पोर्टल GEM (जेम) के द्वारा की गई है तो इसमें सवाल उठाने जैसा क्या है। लोगों द्वारा पोर्टल पर उपलब्ध उपकरणों की लिस्टिंग को भी साझा किया जा रहा है

जानकारों ने बताया सच:

बिजनेस पर पक्की नजर रखने वाले लोगों ने इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बताया कि जेम पोर्टल एक ऑनलाइन प्लेटफार्म है जिसमें सरकारी विभागों द्वारा किसी वस्तु विशेष की गुणवत्ता, मूल्य इत्यादि के आधार पर खरीददारी की जाती है ठीक वैसे ही जैसे किसी ऑनलाइन शॉपिंग साइट पर होता है। जानकारों की मुताबिक इसी जेम पर पल्स ऑक्सीमीटर 500 से लेकर 1000 रुपये के मूल्य पर उपलब्ध है। आप नेता संजय सिंह द्वारा टेबल टॉप ऑक्सीमीटर के बारे में जानकारी देने के बाद भी जानकर इससे इतर बात कहते हुए नजर आते है। क्योंकि उसके लिए इतनी भारी भरकम रकम चुकाना एक बुद्धिमत्ता वाला काम नही हो सकता। लोगों ने इस ऑर्डर पर डायरेक्ट ऑर्डर किये जाने को लेकर भी आरोप लगाए।

मामला कुछ भी हो लेकिन एक पल्स ऑक्सीमीटर के लिए इतनी भारी भरकम रकम देना संदेह पैदा करता है, जिसका कोई जवाब न तो आम आदमी पार्टी के पास है न ही दिल्ली सरकार के किसी अधिकारी के पास।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com