Justice for Nirbhaya
Justice for Nirbhaya|Uday Bulletin
टॉप न्यूज़

दिशा को 10 दिन में मिला इंसाफ, पर निर्भया के न्याय का अभी भी है इंतजार

पहले निर्भया फिर दिशा और अब यूपी के उन्नाव की बेटी के साथ हुआ ये दर्दनाक कांड, क्या हो रहा है ये? और क्यों नहीं मिला अब तक निर्भया को इंसाफ इन सभी सवालों के जवाब जनता मांग रही।

Puja Kumari

Puja Kumari

हैदराबाद में हुए जघन्य अपराध के खिलाफ बीते गुरुवार की रात पुलिस ने उन आरोपियों का एनकाउन्टर कर यह साबित कर दिया कि इंसाफ किसे कहा जाता है। शुक्रवार की सुबह जैसे ही ये खबर सामने आई हर कोई इस बात की खुशी मना रहा था लेकिन इस बात का जश्न मनाये अभी कुछ ही देर हुआ था कि एक खबर ऐसी आई जिससे एक बार फिर से हमारी आंखें नम हो गईं। एक तरफ देश की एक बेटी को इंसाफ मिला तो वहीँ दूसरी तरफ यूपी के उन्नाव में एक बेटी को जिंदा जलाया गया।

समझ तो ये नहीं आ रहा है कि हमारा देश आखिर कहां जा रहा है, क्या हमारे देश में बेटियां इसलिए जन्म ले रही है ताकि उन्हें ये हैवान ऐसे राह चलते जिंदा जला दें? क्या इसलिए सरकार “बेटी पढ़ाओ, बेटी बढाओ” के नारे लगाती है? ऐसे कई सारे सवाल है जो आपके मन में भी आ रहे होंगे और मेरे मन मे भी आ रहे हैं।

इसके अलावा एक सवाल और है जिसका जवाब अब हर कोई सरकार से मांग रहा है। वो ये है कि निर्भया को आखिर कब इंसाफ मिलेगा? निर्भया कांड आपको याद होगा जिसने आज से करीब 7 साल पहले देश को ऐसे ही झंकझोर कर रख दिया था और आज 7 साल बाद हैदराबाद में हुई इस घटना ने हर किसी को हिलाकर रख दिया। जहां हर कोई हैदराबाद की दिशा को मिले इंसाफ का सम्मान कर रहा है वहीं अब यह भी उम्मीद एक बार फिर से जाग उठा है कि निर्भया मामले में कब तक इंसाफ किया जाएगा ?

आपको ये तो पता ही होगा कि निर्भया के आरोपियों को फांसी की सजा तो सुना दी गयी लेकिन अभी तक उन्हें फांसी नहीं दिया गया है। इसके पीछे जो वजह बताया गया है वो सुनकर आपको ताज्जुब होगा। जी हां क्योंकि सरकार का कहना है कि तिहाड़ जेल में फिलहाल फांसी देने के लिए कोई जल्लाद नही है जिसकी वजह से उन्हें फांसी नही दिया जा रहा है। ये सुनकर आपको सरकार पर तो हंसी आ ही रही होगी लेकिन गुस्से से खून भी खौल रहा होगा।

बड़े ही शर्म की बात है कि आज 7 साल से निर्भया के माता पिता को कोर्ट में जाकर आरोपी के वकीलों का और उनके घिनोने सवालों का सामना करना पड़ता है। इसलिए आज एक बार फिर से निर्भया मामले के साथ साथ रेप के कानूनों को लेकर कई सारे मांग उठ रहे हैं।

यह भी पढ़ें : वो बीमार जानवरों का इलाज करती थी, लेकिन असल मे बीमार तो समाज था, इंसान था, इसका इलाज कैसे हो ?

hyderabad rape case
hyderabad rape case Google

क्या उठ रही मांग ?

इस समय एक बार फिर से रेप के कानून में बदलाव को लेकर देशभर के लोगों में भरपूर जोश देखने को मिल रहा है...

हालांकि हैदराबाद में एनकाउन्टर के जरिये न्याय किया गया लेकिन लोग अदालत से भी ऐसे केस में जल्द से जल्द न्यायिक व्यवस्था की गुहार लगा रहे हैं। लोगों का कहना है कि अगर ऐसा कानून ही तैयार हो जाएगा तो किसी भी महिला या लड़की को निर्भया की तरह इंतजार नहीं करना होगा।

आज संसद में भी कुछ ऐसी ही मांगे लेकर महिला सांसद खड़ी हुई हैं, सात साल बाद ये मुद्दा फिर से सड़क से लेकर संसद तक पहुँच गया है।

रेप व हत्या के ऐसे जघन्य मामले में सरकार को कड़े कानून बनाकर लागू करने की आवश्यकता है न कि इन मुद्दों पर राजनीतिक रोटियां सेंकने की।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com