Nirbhaya Case Hearing Live Update
Nirbhaya Case Hearing Live Update|Ians
टॉप न्यूज़

Live: निर्भया मामले की सुनवाई शुरू

निर्भया दुष्कर्म एवं हत्या मामले की सुनवाई बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में शुरू हो गई।

Uday Bulletin

Uday Bulletin

सुप्रीम कोर्ट में निर्भया दुष्कर्म और हत्या के दोषी अक्षय कुमार की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई हो रही है। इस दौरान निर्भया के एक कातिल अक्षय के वकील ने दावा किया कि निर्भया का दोस्त एक भ्रष्ट गवाह है और उसने रिश्वत ली है।

कातिल के वकील ने ब्लैक वारंट किताब का जिक्र किया

सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को निर्भया मामले के एक दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई चल रही है। इस दौरान दुष्कर्म और हत्या के दोषी अक्षय के वकील ने ब्लैक वारंट किताब का उल्लेख किया, जिसमें निर्भया मामले के सह आरोपी राम सिंह की हत्या का संदेह जताया गया है। अक्षय के वकील ने कहा, "नए तथ्य निर्भया के कातिलों को 2017 में दी गई मौत की सजा की समीक्षा की मांग करते हैं।"

निर्भया के हत्यारे की समीक्षा याचिका खारिज

सर्वोच्च न्यायालय ने निर्भया के दोषी की तरफ से दाखिल समीक्षा याचिका बुधवार को खारिज कर दी। दोषी मृत्युदंड का सामना कर रहा है।

समीक्षा याचिका खारिज होने के बाद राष्ट्रपति के यहा दया चाचिका दाखिल करेगा दोषी

निर्भया मामले में मृत्युदंड की सजा पाए चार में से एक दोषी अक्षय की समीक्षा याचिका बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी। दोषी अब राष्ट्रपति के यहां दया याचिका दाखिल करेगा।

निर्भया के दोषियों को मौत की सजा पक्की

मुजरिम अक्षय कुमार सिंह की पुनर्विचार याचिका खारिज होने के साथ ही अब निर्भया मामले में मौत की सजा का फैसला बरकरार रखने के शीर्ष अदालत के निर्णय के खिलाफ चारों दोषियों की पुनर्विचार याचिकायें खारिज हो गयी हैं।

इन दोषियों के पास अभी सुधारात्मक याचिका दायर करने का एक अंतिम कानूनी विकल्प उपलब्ध है। न्यायाधीश सामान्यतया इस तरह की याचिकाओं पर अपने चैंबर में ही विचार करते हैं।

न्यायाधीश ए एस बोपन्ना की पीठ ने अक्षय की पुनर्विचार याचिका खारिज करते हुये अपने 20 पन्नों के फैसले में कहा कि 2017 के शीर्ष अदालत के निर्णय में कोई ऐसी खामी नहीं है जिसकी वजह से उस पर फिर से विचार किया जाये।

16 दिसंबर, 2012 की रात में चलती बस में निर्भया के साथ किया था दुष्कर्म

छह व्यक्तियों ने 23 वर्षीय छात्रा से सामूहिक बलात्कार के बाद उसे बुरी तरह जख्मी करके सड़क पर फेंक दिया था। निर्भया की बाद में 29 दिसंबर, 2012 को सिंगापुर के माउन्ट एलिजाबेथ अस्पताल में मृत्यु हो गयी थी।

इस सनसनीखेज अपराध के सिलसिले में पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इनमें से एक आरोपी राम सिंह ने तिहाड़ जेल में कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी जबकि एक अन्य आरोपी नाबालिग था। इस नाबालिग आरोपी पर किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष मुकदमा चला था और उसे तीन साल तक सुधार गृह में रखा गया था।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com