उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
नाथूराम गोडसे की पूजा करते हिन्दू महासभा के कार्यकर्ता
नाथूराम गोडसे की पूजा करते हिन्दू महासभा के कार्यकर्ता|Social Media
टॉप न्यूज़

ग्वालियर में हिन्दू महासभा ने की गोडसे की पूजा, गोडसे की आरती उतारकर मनाया बलिदान दिवस।

हिन्दू महासभा के कार्यकर्ताओं ने महात्मा गाँधी को बताया देशद्रोही

Abhishek

Abhishek

Summary

एक तरफ जहां हाल ही में देश और दुनिया में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का 150वां जयंती वर्ष मनाया गया, वहीं दूसरी ओर हिंदू महासभा ने शुक्रवार को गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का मध्य प्रदेश के ग्वालियर में बलिदान दिवस मनाया, और उसकी पूजा भी की गई।

नाथूराम गोडसे की तस्वीर पर फूल माला चढ़ाये और आरती की
नाथूराम गोडसे की तस्वीर पर फूल माला चढ़ाये और आरती की
Social Media

हिंदू महासभा ने गोडसे के इतिहास को पढ़ाने की मांग की है। वहीं कांग्रेस ने हिंदू महासभा के कृत्य की निंदा करते हुए भाजपा से सफाई मांगी है। हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को ग्वालियर स्थित कार्यालय में नाथूराम गोडसे के 70वें बलिदान दिवस पर उसकी पूजा-अर्चना की और एक ज्ञापन भी प्रशासनिक अमले को सौंपा। इस ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई है कि नाथूराम गोडसे के आखिरी समय के भाषणों को सार्वजनिक किया जाए और उसे मध्य प्रदेश के पाठ्यक्रम में शामिल भी किया जाए।

हिदू महासभा के पदाधिकारियों का कहना है कि गांधी की वजह से ही देश का बंटवारा हुआ, और उसी से आहत होकर ही नाथूराम गोडसे ने गांधी की हत्या की थी।

हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने गांधी को सबसे बड़ा देशद्रोही बताया है, साथ ही गोडसे को राष्ट्रभक्त कहा है। उनका कहना है कि जब भगवान श्रीराम ने रावण को मारा और श्री कृष्ण ने कंस को मारा, इसे इतिहास में पढ़ा सकते हैं तो फिर नाथूराम गोडसे के बारे में इतिहास में क्यों नहीं पढ़ाया जा सकता।

हिंदू महासभा ने तहसीलदार आर. के. खरे को ज्ञापन भी सौंपा है।

हिंदू महासभा द्वारा गोडसे का बलिदान दिवस मनाए जाने की कांग्रेस ने भर्त्सना की है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अजय यादव ने कहा, "हिंदू महासभा का कृत्य अत्यंत निंदनीय है। यह देश गांधी के सिद्घांतों पर चलता है। इस देश को आजादी गांधी ने दिलाई, सरकारें गांधी के सिद्घांतों पर चलती हैं। भाजपा को स्पष्ट करना चाहिए कि वह इन लोगों के साथ खड़ी है या उनके विरोध में है।"