कांग्रेसी नेता मार्ग्रेट अल्वा
कांग्रेसी नेता मार्ग्रेट अल्वा|Uday Bulletin (Edited)
टॉप न्यूज़

राजस्थान की पूर्व राज्यपाल मार्ग्रेट अल्वा ने कहा कांग्रेस CWC को बदलने का वक्त आ चुका है

कांग्रेस की कार्यप्रणाली और परिवाद के बारे में अब कांग्रेस के अंदर से आवाज उठानी शुरू हो चुकी है, राजस्थान की राज्यपाल रही कांग्रेसी नेता मार्ग्रेट अल्वा ने कहा है कि अब बदलाव का समय है

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

पायलट-गहलोत अंदरूनी मामला:

अल्वा ने राजस्थान में चल रही उठापटक के लिए साफ-साफ शब्दों में अपनी बात रखी है। अल्वा ने बताया कि यह मामला कांग्रेस का बेहद निजी और अन्दुरुनी मामला है और यह चुटकियों में हल हो सकता है। लेकिन इसके लिए कांग्रेस के बड़े नेताओं जैसे सोनिया गांधी को पहल करनी होगी। अल्वा के अनुसार पायलट और गहलोत को बुलाकर चाय की टेबल पर बैठाया जाए तो सारे मसले एक मिनिट में सुलझ जाएंगे।

CWC में बदलाव जरूरी:

अल्वा ने एक समाचार प्रदाता को दिए गए इंटरव्यू में यह बात साफ बतायी की पायलट कांग्रेस के बेहतरीन युवा नेताओं में से एक है और पायलट ने कांग्रेस के लिए खासी मेहनत की है जिसको कोई नकार नहीं सकता। कांग्रेस की कोर वर्किंग कमेटी को लेकर अल्वा ने निशाना साधा और राहुल गांधी से जवाब मांगा है कि आखिर राहुल गांधी के उन विचारों का क्या हुआ जिसमें उन्होंने कांग्रेस वर्किंग कमेटी में युवाओं को शामिल करने की बात कही थी? अगर आज के कांग्रेस वर्किंग कमेटी का स्वरूप देखा जाए तो उसमें एकाधिकार जैसी स्थिति नजर आती है जो कि हर प्रकार से पार्टी के लिए खतरनाक साबित होगी। अगर वैश्विक दृष्टि से देखा जाए तो औसतन भारतीय की औसत आयु 30 वर्ष है जबकि कांग्रेस वर्किंग कमेटी की औसत आयु 70 के भी पार है जो कहीं न कहीं कांग्रेस वर्किंग कमेटी की कार्यक्षमता पर असर डालती है।

पायलट का रुख साफ है:

अल्वा ने इस बात को जोर देकर कहा कि पायलट पहले ही साफ कर चुके है कि वह पार्टी छोड़कर कहीं नहीं जा रहे है, बल्कि खुद भितरघात के द्वारा उनकी छवि को धूमिल किया जा रहा है जो हर प्रकार से नुकसानदेह है। कुछ लोगों ने इसे जानबूझकर पार्टी के बाहर का मामला बनाकर खड़ा कर दिया है जबकि ऐसा कुछ नही है।

ज्ञात हो पिछले दिनों मार्ग्रेट अल्वा का नाम उस वक्त सुर्खियों में आया था जब उनके बेटे के द्वारा एक महिला को अश्लीलता भरे ईमेल भेजे गए थे हालांकि इसके बाद अल्वा ने खुद बेटे की पैरवी न करने की बात कही थी।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com