उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal, Chief Minister Mamata Banerjee)
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal, Chief Minister Mamata Banerjee)|Google
टॉप न्यूज़

1.7 करोड़ से अधिक अल्पसंख्यक छात्रों को बंगाल में स्कालरशिप देंगी -ममता बनर्जी 

ममता ने कहा ‘बंगाल में हम अपनी क्षमता तक हर उस शख्स की देखभाल करेंगे जो हमारे राज्य में आश्रय चाहता है।”

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

कोलकाता | पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal, Chief Minister Mamata Banerjee) ने आज मंगलवार को अल्पसंख्यक अधिकार दिवस (Minorities Rights Day) के उपलक्ष्य में कहा कि उनकी सरकार अल्पसंख्यकों के लिए समान रुख अपनाती है और वह अंतर्राष्ट्रीय प्रवासियों को शरण देने के लिए तैयार है।

ममता ने ट्वीट कर कहा, "आज अल्पसंख्यक अधिकार दिवस (Minorities Rights Day) है। हम सब बराबर और एकजुट हैं। विविधता में एकता हमारी ताकत है।"

उन्होंने अल्पसंख्यकों के लिए अपने योगदान पर प्रकाश डालते हुए लिखा, "आपको यह जानकर प्रसन्नता होगी कि बंगाल में हमने 1.7 करोड़ से अधिक अल्पसंख्यक छात्रों को छात्रवृत्तियां (Scholarship In Bengal) दी हैं, जो देश में सबसे ज्यादा है। सभी को मेरी शुभकामनाएं।"

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal, Chief Minister Mamata Banerjee) ने प्रवासन के मुद्दे पर अपनी राय जाहिर करते हुए कहा कि, " आज अल्पसंख्यक अधिकार दिवस (Minorities Rights Day) है। प्रवासियों को शरण देने का हमारा मानवीय कर्तव्य है।" उन्होंने कहा, "बंगाल में हम अपनी क्षमता तक हर उस शख्स की देखभाल करेंगे जो हमारे राज्य में आश्रय चाहता है।"

ममता बनर्जी ( Chief Minister Mamata Banerjee)ने आज को तापसी मलिक की बरसी पर ट्विटर पर उन्हें भी याद किया। वर्ष 2006 में भूमि अधिग्रहण को लेकर सिंगूर में हुए आंदोलन के दौरान तापसी का बलात्कार कर उसे आग के हवाले कर दिया गया था। तापसी को याद करने के साथ ही बनर्जी ने 34 साल के वाम पंथी शासन के दौरान राजनीतिक हिंसा में मारे गए लोगों को भी श्रद्धांजलि दी।

बनर्जी ने मंगलवार को ट्वीट किया, ‘‘तापसी को उसकी बरसी पर श्रद्धांजलि। वर्ष 2006 में सिंगूर में किसान आंदोलन के दौरान युवा प्रदर्शनकारी का बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी गई थी। 34 साल के वामपंथी शासन के दौरान मारे गए लोगों को भी मेरी श्रद्धांजलि।’’

आपको बता दें कि, तापसी ‘सेव सिंगूर फार्मलैंड कमेटी’ की सदस्य थी। उसका झुलसा हुआ शव 18 दिसम्बर 2006 को सिंगूर में टाटा मोटर्स की फैक्टरी साइट से बरामद हुआ था। यह आंदोलन कई महीनों तक चला था और इसकी चर्चा देश-विदेश तक की गई थी। प्रदर्शनकारियों को तत्कालीन विपक्षी नेता ममता बनर्जी का समर्थन मिला था। जिसके बाद ममता की लोकप्रियता बढ़ गई थी।