मणिलाल पाटीदार को जांच में बचा रही यूपी पुलिस, एसआईटी की जांच पर मृतक व्यवसायी के परिजनों को नहीं भरोसा

महोबा जिले के चर्चित इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड में मृतक के परिजनों ने जांच में एसपी पाटीदार को बचाने के आरोप लगाए-SIT investigation of mahoba Businessman indrakant tripathi murder case
मणिलाल पाटीदार को जांच में बचा रही यूपी पुलिस, एसआईटी की जांच पर मृतक व्यवसायी के परिजनों को नहीं भरोसा
Indrakant tripathi murder case mahobaUday Bulletin

मृतक व्यवसायी के परिजनों ने अपने वक्तव्य में कहा है कि यूपी पुलिस जानबूझकर मुख्य आरोपियों पर हाँथ लगाने से डर रही है और इन्द्रकांत की हत्या को जिस प्रकार से आत्महत्या दिखाने का प्रयास किया जा रहा है उससे शंकाएं मजबूत होती जा रही है कि हमें न्याय नहीं मिलेगा।

पुलिस मृतक के परिजनों पर ही कास रही शिकंजा:

कबरई के इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड में चल रही एसआईटी जांच में परिजनों ने पुलिस की भूमिका को लेकर जोरदार सवाल उठाए हैं परिजनों के मुताबिक पुलिस जानबूझकर मुख्य आरोपी एसपी मणिलाल पाटीदार को बचाने का प्रयास कर रही है। अगर सरकार द्वारा इस मामले में हस्तक्षेप नहीं किया जाता तो यह जांच बेकार जा सकती है।

परिजनों के मुताबिक इस जांच को केवल और केवल इन्द्रकांत के सहयोगियों और उसके परिजनों को केंद्र बिंदु में रखकर की रही है जबकि परिजनों द्वारा जिन-जिन लोगों पर हत्या की आशंका जताई गयी थी उन्हें जांच से कोसो दूर रखा जा रहा है। इतना ही नहीं मुख्य आरोपी पुलिस के साथ मिलकर सुबूतों और गवाहों के साथ छेड़छाड़ करने की जुगत में हैं। बीते दिन सूत्रों ने यह जानकारी दी कि एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी है कि इन्द्रकांत त्रिपाठी ने गोली खुद की पिस्टल से खुद पर चलाई थी।

कथित तौर पर मणिलाल हुए कोरोना संक्रमित:

परिजनों द्वारा इस मामले में महोबा के तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार की भूमिका पर सवाल करने इस बहाने का हवाला दिया जा रहा है कि एसपी पाटीदार इन दिनों कोरोना से संक्रमित है इसलिए उनसे इस मामले में कोई पूंछताछ नहीं की जा सकती। हालाँकि इस मामले पर इन्द्रकांत त्रिपाठी के परिजनों द्वारा तीखे सवाल दागे गए हैं जिसके जवाब शायद पुलिस विभाग और जांच टीम के पास उपलब्ध नहीं होंगे।

मुख्य सवाल:

  • एसपी मणिलाल पाटीदार जांच के पहले ही कोविड पाए गए थे या पूंछताछ की बात सामने आने पर संक्रमित हुए है?

  • मणिलाल पाटीदार होम क्वारंटाइन है अथवा किसी अस्पताल में रहकर अपना इलाज करा रहे हैं?

  • क्या मणिलाल पाटीदार के संपर्क में आये लोगों को भी आइसोलेशन में रखा गया है?

  • क्या पुलिस ने मणिलाल पाटीदार की जांच रिपोर्ट को तलब किया गया है और इसकी सत्यता की जांच की गई है?

  • क्या इस मामले के बारे में वादी पक्ष को जानकारी दी गयी है?

  • वायरल आडियो में जिस आशु भदौरिया का जिक्र है उसे पुलिस द्वारा जानबूझकर इस केस से क्यों दूर रखा जा रहा है?

  • आशु भदौरिया द्वारा धमकी देने के बाद भी उसकी गिरफतारी दूसरे मामले में क्यों दिखाई गई है?

  • आशु भदौरिया और एसपी साहब (राजा साहब) के बीच पुलिस-अपराधी गठजोड़ किस तरह से किया गया है, क्या जांच दल द्वारा इस मामले की जांच की गई है?

परिवार का आरोप, मुख्य अपराधी बच रहे है:

मृतक इन्द्रकांत त्रिपाठी के परिवार ने खुलकर बोलते हुए कहा कि इस मामले में एसपी पाटीदार समेत अन्य मुख्य आरोपियों जैसे देवेंद्र शुक्ला, सुरेश सोनी , और ब्रम्हदत्त जैसे लोगों को जानबूझकर जांच से दूर रखा जा रहा है। ताकि असल मामला दबा रहे और मुख्य आरोपी बच जाएँ।

एसआईटी ने किया तथाकथित खुलासा:

एसआईटी ने अपनी जांच में यह जानकारी दी है कि मृतक इन्द्रकांत त्रिपाठी ने अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर/पिस्टल से खुद पर गोली चलाई थी जिसकी वजह से उनकी मौत हो गयी थी। हालांकि यहाँ एसआईटी ने एसपी मणिलाल पाटीदार के बारे में कुछ भी बोलने से मना किया है।

परिजनों को SIT पर नहीं भरोसा:

परिजनों ने इस मामले पर एसआईटी की जांच से अपनी असहमति दर्ज कराई है और कहा है कि यह सिर्फ एक साजिस है जिसमें इन्द्रकांत की हत्या को आत्महत्या करार देकर बहुत सारे लोगों की गर्दन बचाई जा रही है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com