उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान|IANS
टॉप न्यूज़

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव परिणाम: शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद से दिया इस्तीफा 

राज्य में 230 विधानसभा सीटें है और बहुमत के लिए 116 विधायकों की जरूरत है। इससे पहले बसपा सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान किया।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

भोपाल | मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने पद से इस्तीफा देने का ऐलान किया है। चौहान ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा, "उन्हें बहुमत नहीं मिला है, कांग्रेस को भी बहुमत नहीं मिला है, मगर कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनी है। मै अपने पद से इस्तीफा देने राजभवन जा रहा हूं।"

गौरतलब है कि भाजपा ने राज्य की 230 विधानसभा सीटों में से 109 सीटों पर जीत दर्ज की है जबकि कांग्रेस 114 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है।

चौहान ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा, "आई एम नाउ फ्री (मै अब आजाद हूं)। राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। राज्य में कार्यकर्ताओं ने परिश्रम किया है, मतदान का प्रतिशत ज्यादा रहा लेकिन अंक बल में पीछे हैं, भाजपा सरकार बनाने का दावा नहीं करेगी। कमलनाथ को बधाई।"

आपको बता दें कि, मध्य प्रदश में देर रात सियासी ड्रामा शुरू हुआ था। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अध्यक्ष राकेश सिंह ने ट्वीट करके कहा, 'प्रदेश में कांग्रेस को जनादेश नहीं है। कई निर्दलीय और अन्य भाजपा के संपर्क में हैं। बुधवार को राज्यपाल महोदया से मिलेंगे।'

दरअसल में मध्य प्रदेश विधानसभा में कुल 230 सीटें हैं। जिनमें से 114 कांग्रेस को, 109 भाजपा को, दो बसपा को, एक सपा को और चार सीटें अन्य को मिली हैं। यहां बहुमत के साथ सरकार बनाने के लिए 116 सीटों की जरूरत है। ऐसे में अगर बसपा, सपा और अन्य भाजपा की तरफ आ जाते हैं तो राज्य में चौथी बार भाजपा की सरकार बन सकती है। हालांकि बसपा और सपा ने संवाददाताओं से कहा की वो अपना समर्थन कांग्रेस को देगी , जिसके बाद मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपना इस्तीफा राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को दिया।

बता दें कि मध्य प्रदेश राज्य में भारतीय जनता पार्टी को एंटी इनकंबेंसी का सामना करना पड़ा है। किसान नेता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधनी सीट से जीत गए हैं। उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी अरुण यादव को करीब 58 हजार वोटों के अंतर से हराकर जीत दर्ज की है।

गौरतलब है कि राज्य की 230 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा ने 109 सीटें जीती हैं जबकि कांग्रेस ने 114 सीटें जीती हैं, जबकि उसे चार निर्दलियों, बसपा के दो और सपा के एक उम्मीदवार का समर्थन हासिल है। इस तरह कांग्रेस को 121 विधायकों का समर्थन हासिल है।