Amar Dubey and Khushi dubey Marriage viral video
Amar Dubey and Khushi dubey Marriage viral video|Uday Bulletin
टॉप न्यूज़

जबरन शादी नहीं बल्कि शादी की खुशी में जमकर नाची थी खुशी

क्या कोई जबरदस्ती की गयी शादी में इतनी ख़ुशी से झूम कर नाचता है?

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

एक ओर जहां मृतक अमर दुबे की पत्नी ने खुद की शादी को जबरिया विवाह का नाम दे रही थी, दूसरी ओर उसी शादी में खुशी जीभरकर नाचती हुई नजर आ रही है। सनद रहे कि शादी के मात्र कुछ दिनों के अंदर ही अमर दुबे उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में आने वाले कस्बे मौदहा में पुलिस शूटआउट में मारा गया था।

वायरल हुआ वीडियो:

दरअसल एक ओर जहां पुलिस की गिरफ्त में नवविवाहित खुशी अपने निर्दोष होने और शादी ग़ैरमर्जी से होने की बात कह रही है वहीँ सोशल मीडिया में वायरल वीडियो(Amar Dubey and Khushi dubey Marriage viral video) ने इस दावे की हवा निकाल दी है। जिस विवाह को जबरिया विवाह का नाम देकर बचने की कोशिश की जा रही थी असल मे यह विवाह प्रेम विवाह निकला।

सीओ के सर से सटा कर मारी थी गोली:

दरअसल बिकरू गांव कांड में भले ही मुख्य आरोपी विकास दुबे को बनाया जा रहा हो लेकिन इस मामले में सबसे ज्यादा दरिंदगी अमर दुबे ने ही बरती थी। अमर ने घायल सीओ को दीवार से सटा कर सिर में गोली मारी थी जिसकी वजह से कंधे से लेकर चेहरे का आधा हिस्सा उड़ गया था। यही नही मौके से फरार होने के बाद अमर लगभग हर वक्त अपनी पत्नी के साथ संपर्क में था और पत्नी के द्वारा पल पल की जानकारी पुलिस से छिपाई जा रही थी। अमर की तलासी के दौरान पुलिस को एक नई थ्योरी से सामना करना पड़ा था क्योंकि अमर की पत्नी खुशी के परिजनों ने आरोप लगाए थे कि यह विवाह घरवालों और खुशी की रजामंदी से नहीं हुआ था बल्कि अमर ने अपनी ताकत और गुंडागर्दी के बल पर जबरन शादी की थी। नजदीकी लोगों ने यह कहा था कि खुशी को जबरन उठाकर शादी के लिए ले जाया गया था। लेकिन शादी के वायरल वीडियो इस मामले की पोल खोल देते हैं। दरअसल अमर दुबे, विकास का सबसे विश्वसनीय और खूंखार गुर्गा था, सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मात्र तीन दिन पहले ही अमर दुबे की शादी हुई थी जिसमें विकास दुबे समेत भेदी पुलिसकर्मी केके शर्मा भी शादी में पहुँचे था।

अमर दुबे की शादी में विकास दुबे और एसआई केके शर्मा:

पुलिस खुशी को छोड़ने के मूड में नहीं:

UP STF PRESS NOTE
UP STF PRESS NOTE

अगर पुलिसकर्मियों की माने तो खुशी के पास कोई ऐसी मजबूत वजह नहीं है जिससे खुशी को बाहर जाने दिया जाए। पुलिस को उम्मीद है कि खुशी इस मामले में पुलिस और कोर्ट को गंभीर जानकारियां उपलब्ध करा सकती है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com