सुशांत सिंह केस उससे भी कहीं ज्यादा उलझाऊ है, जितना लगता था

कंगना राणावत ने सुशांत सिंह के केस में नया ट्विस्ट ला दिया
सुशांत सिंह केस उससे भी कहीं ज्यादा उलझाऊ है, जितना लगता था
kangana ranaut on sushant singh rajput deathGoogle Image

मामले में जितने राज खुल रहे है उससे भी कहीं ज्यादा पेचीदगियां सामने आ रही है। एक ओर बिहार पुलिस की टीम को मुंबई पुलिस द्वारा इन्वेस्टिगेशन करने में रुकावट डाली जा रही है वहीँ साथ ही कंगना राणावत ने भी इस मामले में नया खुलासा किया है, जिससे बवाल होना तय है।

सोशल मीडिया पर सुशांत सिंह केस में नई सनसनी फैल रही है:

बिहार पुलिस गले की फांस बनी:

जिस दिन से बिहार पुलिस ने मुंबई में अपना डेरा डाला उसके बाद से सुशांत सिंह केस में दिनो दिन प्रगति शुरू हुई साथ ही इससे सरगर्मी भी बढ़ने लगी है जो मुंबई पुलिस मात्र इसे आत्महत्या के तौर पर देख रही थी उसी केस को बिहार पुलिस ने हर एंगल से खोजना शुरू कर दिया है। जो सुबूत मुंबई पुलिस को खुली आँखों से नजर नहीं आये वो बिहार पुलिस की छोटी सी टीम खोल-खोल का निकाल कर रख रही है।

मामले के बाद से मुंबई पुलिस पर लगातार सवाल खड़े हो रहे थे और जिस दिन से बिहार पुलिस मुंबई पहुंची तो मुंबई पुलिस ने जितनी सतर्कता इस केस के खुलासे में नहीं बरती उससे कहीं ज्यादा बिहार पुलिस की जांच में रुकावट डालकर पूरी की। फिर चाहे बिहार पुलिस की टीम को प्रेस कॉन्फ्रेंस से किसी अपराधी की भांति उठा ले जाना हो या अस्पताल प्रशासन द्वारा सुशांत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट को मुहैया न कराना हो। कुलमिलाकर अब चारों तरफ से महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस पर इस मामले को दबाने के आरोप लग रहे हैं।

मुंबई पुलिस की थ्योरियाँ खुद पुलिस के लिए बवाल बनी हुई है।

कंगना ने खोला नया मोर्चा:

मामले से जुड़े हुए मुद्दों पर अपनी राय मुखरता से रखने वाली कंगना ने अगला निशाना महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के बेटे पर लगाया है। इससे पहले भी लोग दबी जुबान में इस केस को मुख्यमंत्री के बेटे से जोड़ रहे थे। लेकिन कंगना ने सुशांत सिंह की सैक्रेटरी की मौत को एक पार्टी जिसमें करन जौहर और आदित्य ठाकरे से जोड़ दिया। यहां आपको बताते चले कि पिछले दिनों मनाली में रह रही कंगना ने पुलिस में एक शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें उनको घर के पास गोली चलने की आवाज सुनाई दी थी। कंगना ने अपने ट्वीट में कहा कि "सभी लोग जानते है लेकिन कोई अपने जुबान से कहना नहीं चाहता" करन जौहर का सबसे करीबी दोस्त उनके सबसे बेस्ट मुख्यमंत्री का बेटा है। जो बेबी पेंग्विन है, कंगना ने यह भी कहा कि अगर वह अपने घर मे फांसी पर लटकी हुई मिले तो यकीन मानिए की मैंने सुसाइड नही किया।

बिहार आईपीएस को जबर्दस्ती क्वारंटाइन किया गया:

अब इसे मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र सरकार की गुंडागर्दी कहे या फिर मामले को छुपाने की कोशिश। सुशांत सिंह केस में इन्वेस्टिगेशन करने पहुंचे आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को महाराष्ट्र सरकार के इशारे पर मुंबई पुलिस ने जबरजस्ती क्वारंटाइन कर दिया गया है ताकि पुलिस अधिकारी इस बाबत कोई जांच न कर पाए। लोगों ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई है कि वो इस मामले में स्वतः संज्ञान ले।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com