chinese apps banned in india
chinese apps banned in india|uday bulletin
टॉप न्यूज़

भारत मे पबजी के साथ अन्य 118 चायनीज एप्स किये गए बैन

लोग इसे चीन के साथ भारत की तनातनी से जोड़कर देख रहे हैं।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

भारत हर मोर्चे पर चीन को दे रहा चोट:

चीन के भारत के साथ ताजा हालातों से कोई अनजान नही है, बीते कुछ महीनों से चीन के साथ भारत का सीमा विवाद लगातार बढ़ता जा रहा है इस क्रम में भारत चीन को भी हर संभव मोर्चे पर लताड़ रहा है फिर चाहे वह कूटनीतिक मोर्चे पर चीन के विरोध में माहौल तैयार करना हो या फिर चीनी उत्पादों के लिए भारत में ज्यादा टैक्स लगाना या फिर चीनी एप्स को भारत मे प्रतिबंधित करना हो। भारत इसी चक्कर मे पहले भी कई एप्स को बाहर का रास्ता दिखा चुका है। अबकी बार भारत ने प्रशिद्ध गेम पबजी समेत 118 गेम्स को भारत मे प्रतिबंधित किया है।

सबसे ज्यादा हल्ला पबजी पर:

पबजी ने भारत मे बहुत कम समय मे अपनी पकड़ बना ली थी और लोगों के बीच मे लोकप्रियता हासिल कर ली थी। लेकिन चूंकि पबजी कंपनी में चीनी कंपनी टेनसेंट का बहुत बड़ी हिस्सेदारी थी जिसकी वजह से भारत सरकार के सूचना प्रसारण मंत्रालय ने एक नोटिफिकेशन देकर पबजी समेत अन्य एप्स को प्रतिबंधित कर दिया है और जाहिर सी बात है कि इसका सीधा असर चीन की आर्थिक क्षमता पर जाएगा।

पबजी कर रहा था नए कलेवर की तैयार:

सनद रहे कि भारत सरकार ने पबजी मोबाइल और पबजी लाइट पर उस वक्त बैन लगाया है जब पबजी अपने मोबाइल गेम में नया और बड़ा अपडेट लाने वाला था। दरअसल भारत चीन को हर मोर्चे पर घेरना और पीछे हटाना चाहता है यही कारण है कि भारत ने चीन को आर्थिक मोर्चे पर नुकसान देने के लिए यह चाल चली है। चूंकि इस तरह के एप चीन को आर्थिक लाभ पहुंचाते है और इसी लाभ को खत्म करने के लिए सरकार के कदम कारगर साबित होंगे।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com