उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
IAS टॉपर शाह फैसल लड़ेगें लोकसभा चुनाव
IAS टॉपर शाह फैसल लड़ेगें लोकसभा चुनाव |Google
टॉप न्यूज़

दूसरे अरविंद केजरीवाल बनने की राह पर कश्मीरी IAS टॉपर शाह फैसल, लड़ेगें लोकसभा चुनाव 

आईएएस टॉपर शाह फैसल ने ‘जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट’ नाम से पार्टी लॉन्च की। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

केंद्र सरकार की कश्मीर नीतियों से नाराज होकर आईएएस से राजनेता बने शाह फैसल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के नक्शों कदम पर चल रहे हैं। उन्होंने रविवार यानी 17 मार्च को अपनी नई पार्टी का ऐलान कर दिया है। जिसका नाम ‘जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट’ पार्टी है।

पार्टी का ऐलान करते हुए शाह फैसल ने कहा - "मैंने कभी सोचा नहीं था कि मैं कभी राजनीति में आऊंगा, लेकिन केंद्र सरकार कि कश्मीर नीतियों से दुखी होकर मुझे राजनीति में आना पड़ा। इसलिए मैंने सोचा कि मैं अपनी ही एक पार्टी लांच करूं जो कश्मीरी युवाओं के लिए बेहतर काम करे , उन्हें नया प्लेटफॉर्म दे। कुछ लोग मुझे अपनी पार्टी में शामिल करना चाहते थे, मैं भी चाहता था कि किसी बड़ी पार्ट को ज्वाइन करूं। लेकिन जब मैंने उन्हें मना किया तो वो मुझे आरएसएस और बीजेपी का एंजेंट बताने लगे।”

शाह फैसल के राजनीति में आने से कश्मीर की राजनीति गर्मा गई है। वे मेहबूबा मुफ़्ती की पीडीपी और उमर अब्दुल्ला की जम्मू एंड कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी पर ठीक उसी तरह आरोप लगा रहे हैं जिस तरह आम आदमी पार्टी के संस्थापक अरविन्द केजरीवाल बीजेपी और कांग्रेस पर लगाते हैं।

शाह फैसल अरविंद केजरीवाल के प्रशंसक भी हैं। पार्टी लांच के मौके पर शाह फैसल कहते हैं कि, मैं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उनके राजनीतिक संघर्ष के लिए सम्मान करता हूं। फैसल ने कहा कि ” हमारी पार्टी कश्मीर के मसले का लोगों की इच्छाओं के अनुरूप शांतिपूर्ण ढंग काम करेंगी और लोगों की समस्याओं का निपटारा करने के लिए काम करेगी। हमरा मकसद युवाओं का प्रतिनिधित्व करना होगा। " फैसल की ‘जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट’ पार्टी अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी की तरह काम करेगी।

आपको बता दें कि, फैसल कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के निवासी हैं, और इसी साल उन्होंने जनवरी महीने में आईएएस की नौकरी से इस्तीफा दिया था। फैसल 2009 बैच के प्रशासनिक अधिकारी हैं और सिविल सर्विसेज एग्जाम के टॉपर भी रहे हैं। नौकरी छोड़ने के बाद उन्होंने पॉलिटिक्स की तरफ कदम बढ़ाया। जिसके लिए उन्हें फण्ड की जरुरत पड़ी और जिसे पूरा करने के लिए उन्होंने सोशल मीडिया पर क्राउडफंडिंग का सहारा भी लिया।

‘जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट’ पार्टी के लांच होने के बाद इस पार्टी को जॉइन करने वालों में दिल्ली में जेएनयू की एक्स-प्रेसिडेंट शहला राशिद सबसे आगे रहीं। उन्होंने अपने पहले भाषण में कश्मीर की महिलाओं को आगे आकर इस पार्टी से जुड़ने का आवाहन किया। उम्मीद लगाई जा रही है कि फैसल इस बार बारामुला सीट से चुनाव लड़े।