बाँदा जिले के बबेरू कस्बे में पत्नी का सिर काटकर थाने पहुँचा पति, अवैध संबंध का है मामला

क्रोध कितना अंधा होता है इसका ताजा नमूना बाँदा जिले के बबेरू कस्बे में मिला, बबेरू क्षेत्र में उस वक्त सनसनी फैल गयी जब एक व्यक्ति अपनी पत्नी का कटा हुआ सिर लेकर कोतवाली परिसर में पहुँच गया
बाँदा जिले के बबेरू कस्बे में पत्नी का सिर काटकर थाने पहुँचा पति, अवैध संबंध का है मामला
पत्नी का सिर काटकर थाने पहुँचा पतिउदय बुलेटिन

पत्नी के अवैध संबंधों के चलते पति ने पत्नी का सिर किया धड़ से अलग, बोला मुझे अपने किये पर कोई पछतावा नहीं बस मुझे अपने दोनों बच्चों की चिंता है।

कोतवाली पहुँचा कटा सिर लेकर:

बाँदा जिले की बबेरू थाना कोतवाली में उस वक्त असमंजस की स्थिति हो गयी जब एक व्यक्ति हाँथ में महिला के कटे हुए सिर और हाँथ में फरसा लेकर पहुँच गया। कोतवाली में स्थिति भयावह हो गयी कि वहां मौजूद पुलिसकर्मियों को यह नहीं सूझ रहा था कि वह क्या करे और क्या न करें। मामले की संगीनता इतनी ज्यादा बढ़ गयी कि पुलिस अधिकारियों ने आनन-फानन में अपने उच्चाधिकारियों को सूचित किया और सिर काटकर लाये हुए व्यक्ति से सिर को अपनी सुपुर्दगी में लेकर जांच की कार्यवाही को आगे बढ़ाया। यहां आपको बताते चले कि व्यक्ति ने हमला अपनी पत्नी और प्रेमी दोनो लोगों पर किया गया था, प्रेमी की हालत बेहद गंभीर है जिसका इलाज चल रहा है। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त फरसा भी बरामद कर लिया है।

पत्नी को आपत्तिजनक स्थिति में देखकर ख़ौला खून:

हत्यारोपी ने थाने पहुंचकर सबसे पहने थानाध्यक्ष महोदय से मिलने की गुजारिश की और बताया कि उसकी पत्नी लगातार लंबे समय से उसके साथ धोखाधड़ी कर रही थी। उसने इस मामले को पत्नी को साथ बैठकर कई बार चर्चाएं की और उसको इस रास्ते पर चलने से रोका। हत्यारोपी ने बताया कि मैंने अपनी पत्नी को बार-बार बच्चों के भविष्य को लेकर चेताया लेकिन पत्नी के अंदर व्यभिचार की आदत रच बस चुकी थी। मेरे न रहने पर पत्नी द्वारा अपने प्रेमी को बार-बार बुलाकर अवैध संबंध बनाए जाते रहे। आखिरकार शुक्रवार के दिन अचानक बाहर से लौटा और पत्नी को प्रेमी के साथ उस वक्त आपत्तिजनक स्थिति में पाया जब मेरे दोनो बच्चे ट्यूशन पढ़ने के लिए पड़ोस में गए थे। मैंने पूरे होशोहवास में इस कृत्य को अंजाम दिया है, मैं कानूनी दंड को जनता हूँ इसलिए बिना किसी छुपाव के अपने आपको पुलिस के हवाले करता हूँ, मुझे बस केवल अपने दोनों बच्चों की चिंता है, बांकी कोई अपराध बोध नहीं।

बेहद सामान्य था हत्यारोपी का व्यवहार:

मौके पर मौजूद लोगों और पुलिसकर्मियों ने इस बाबत जानकारी दी कि हत्यारोपी हत्या के बाद फरसा और कटे हुए सर को लेकर कोतवाली पहुँचा, उसके कपड़े खून से पूरे सने हुए थे शरीर के हिस्सों में भी खून लगा हुआ था, उसने अपनी पत्नी के सिर को बालों के बल लटका कर पकड़ा हुआ था।

लोगों ने बताया कि उसने यह हत्या बेहद मजबूर होकर की है, उसका कोई इरादा नहीं था लेकिन यह भी सत्य है कि उसने यह हत्या की है, इसमे कोई दो राय नही। चूंकि पत्नी की हरकतों की वजह से जीवन नरक होता जा रहा था, इसलिए उसने यह कदम उठाया।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com