उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Hindu Sabha
Hindu Sabha|Image Credit - Reddit
टॉप न्यूज़

देश में बढ़ते हिंदुत्व से भारत की धर्मनिरपेक्ष छवि को खतरा: कांग्रेशनल रिसर्च सर्विस

अमेरिका की संसदीय रिपोर्ट का दावा भारत में हिंदू राष्ट्रवाद पर उभरता राजनीतिक बल देश की धर्मनिरपेक्ष छवि को नुकसान....

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

वाशिंगटन : अमेरिकी संसद में प्रस्तुत एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत में हाल के दशकों में हिंदू राजनीतिक पार्टियों में वृद्धि हुई है| जिससे देश की धर्मनिरपेक्ष छवि पर खतरा बढ़ गया है| यहाँ तक कि सोशल मीडिया में भी भारतीय दर्शक हिंदू समुदाओं द्वारा डाली गई हिंसक घटनाओं को भी प्रत्यक्ष और परोक्ष दोनों प्रकार से मंजूरी दे रहे हैं|

अमेरिकन कांग्रेशनल रिसर्च सर्विस ने भारत में बढ़ते धर्म प्रेरित दमन व हिंसा की अन्य क्षेत्रों को अपनी रिपोर्ट में प्रस्तुत किया है | जिसमें धर्मांतरण निरोधी कानून , पशु रक्षा कानून विशेष कर गोरक्षा कानून , अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला , गैर सरकारी संगठनों द्वारा चलाया जा रहा अभियान देश की धर्मनिरपेक्ष छवि को अंतरास्ट्रीय स्तर पर नुकसान पहुंचा रहा है|

इस रिपोर्ट को प्रस्तुत करने वाली एजेंसी कांग्रेशनल रिज़र्व सर्विस अमेरिका की सरकारी एजेंसी नहीं है और ना ही ये एजेंसी सांसदों की विचरों से प्रेरित है | यह संगठन स्वतंत्र विशेषज्ञों द्वारा चलाया जाता है , रिपोर्ट का निर्माण भी उनके द्वारा ही किया जाता है | जिससे संसद इस पर गौर कर सके और उन्हें उचित निर्णय लेने में मदद मिले |

कांग्रेशनल रिज़र्व सर्विस द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट का शीर्षक “इंडिया रिलीजियस फ्रीडम इश्यूज” रखा गया है| जिसमें कहा गया है " संविधान द्वारा धार्मिक स्वतंत्रता की स्पष्ट्ट रूप से रक्षा की गई है | भारत की आबादी में हिंदुओ की संख्या सबसे अधिक है | बीते दशकों में हिन्दू राष्ट्रवाद पर उभरता राजनीतिक बल कई मायनों में भारत की धर्मनिरपेक्ष प्रकृति को नुकसान पहुंचा रहा है तथा देश की धार्मिक स्वंत्रता पर नए हमलों की वजह बन रहा है |”

यह रिपोर्ट 30 अगस्त को अमेरिकी सदन में पेश किया गया था | जिसके बाद यह निर्णय लिए गया की भारत यात्रा के दौरान अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉपओ इस विषय पर चर्चा करेगें|