वित्त मंत्री अरूण जेटली (Finance minister Arun Jaitley)
वित्त मंत्री अरूण जेटली (Finance minister Arun Jaitley)
टॉप न्यूज़

TV, सिनेमा टिकट,कैमरे हुए सस्ते: सीमेंट पर GST की कमी के लिए अभी करना होगा इंतजार, देखें पूरी लिस्ट 

विभिन्न प्रकार की वस्तुओं पर जीएसटी दरें कम करने से सालाना राजस्व में 5,500 करोड़ रुपये का असर पड़ेगा।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: GST परिषद ने शनिवार को आम लोगों को राहत देते हुए TV स्क्रीन, सिनेमा के टिकट और पावर बैंक सहित विभिन्न प्रकार की 23 वस्तुओं पर वस्तु एवं सेवा कर (GST) की दरों में कमी की घोषणा की। कर दर में संशोधन का यह निर्णय आगामी नव-वर्ष के दिन से प्रभावी होगा।

परिषद की 31वीं बैठक के बाद यहां वित्त मंत्री अरूण जेटली (Finance minister Arun Jaitley) ने इन फैसलों की घोषणा की । उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रकार की वस्तुओं पर जीएसटी दरें कम करने से सालाना राजस्व में 5,500 करोड़ रुपये का असर पड़ेगा।

परिषद ने जीएसटी (GST) की 28 प्रतिशत की सर्वोच्च कर के दायरे में आने वाली वस्तुओं में से सात को निम्न दर वाले स्लैब में डाल दिया है। इसके साथ ही 28 प्रतिशत के स्लैब में अब केवल 28 वस्तुएं बची हैं। जेटली (Finance minister Arun Jaitley) ने कहा, ‘‘ जीएसटी की दरों को तर्कसंगत बनाना एक सतत प्रक्रिया है।’’

उन्होंने कहा, “28 प्रतिशत की दर का धीरे-धीरे पटाक्षेप हो जाएगा...अगला लक्ष्य परिस्थिति अनुकूल होने के साथ सीमेंट पर GST में कमी करना है।”

अब 28 प्रतिशत की कर दर वाहनों के कल-पुर्जों और सीमेंट के अलावा केवल विलासिता के सामान और अहितकर वस्तुओं पर ही रह गया।

क्या हुआ है सस्ता...

- टीवी एवं मॉनिटर स्क्रीन (32 इंच तक के), पुली, ट्रांसमिशन सॉफ्ट और क्रैंक, गियर बॉक्स, पुराने एवं रिट्रीडेड रिपीट रिट्रीडेड टायर, लिथियम आयन की बैटरियों वाले पावर बैंक, डिजिटल कैमरे, वीडियो कैमरा रिकॉर्डर और वीडियो गेम में इस्तेमाल में आने वाले उपकरणों पर जीएसटी की दर को 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी पर लाया गया है।

- 28 फीसदी वाले स्लैब में वाहनों के कल-पुर्जे, एसी और डिशवॉशर, सीमेंट के अलावा केवल विलासिता के सामान और अहितकर वस्तुएं हैं।

- सिनेमा के 100 रुपए तक के टिकटों पर अब 18 प्रतिशत की बजाय 12 प्रतिशत की दर से और 100 रुपए से ऊपर के टिकट पर 28 फीसदी की बजाय 18 फीसदी जीएसटी लगेगा।

- दिव्यांगों के वाहनों के कल-पुर्जों पर जीएसटी को 28 प्रतिशत से घटाकर पांच प्रतिशत कर दिया है।

- माल ढुलाई के लिए इस्तेमाल में लाये जाने वाले वाहनों के थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के प्रीमियम को घटाकर 18 प्रतिशत से 12 फीसदी कर दिया गया है।

- संगमरमर के दाने, प्राकृतिक कॉर्क, हाथ की छड़ी और फ्लाई एश से बने ब्लॉक को पांच प्रतिशत के कर के दायरे में रखा गया है।

- संगीत की किताबों, सब्जियों (कच्ची या उबाली या भांप में पकायी गयीं), फ्रोजन, ब्रांडेड और डिब्बाबंद एवं सब्जियां (रासायनों के जरिए संरक्षित लेकिन सीधे खाने के लिए अनुपयुक्त) को जीएसटी के दायरे से बाहरे कर दिया गया है।

- जनधन योजना के तहत बैंकों द्वारा दी जाने वाली सेवाओं को भी जीएसटी से मुक्त कर दिया गया है।

- विदेशी तीर्थस्थलों के लिए द्विपक्षीय व्यवस्था के तहत परिचालित गैर-अधिसूचित/ चार्टर उड़ानों की सेवा पर पांच प्रतिशत की रियायती दर से कर लगेगा।

- अक्षय ऊर्जा संयंत्रों एवं उनमें लगने वाले सामानों पर पांच प्रतिशत की दर से जीएसटी लगाया जाएगा।

वास्तुओं पर GST की संशोधित दरें एक जनवरी, 2019 से लागू होगी।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com