उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Mumbai foot over bridge collapsed
Mumbai foot over bridge collapsed|Twitter
टॉप न्यूज़

मुंबई ओवरब्रिज हादसा: आतंकी ‘कसाब पुल’ जिसने ले ली 6 लोगों की जान     

छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस के बाहर एक फुट ओवर ब्रिज का हिस्सा ढहने के बाद पिछले 12 घंटों में छह लोगों की मौत हो गई और 32 लोग घायल हो गए।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

मुंबई: 14 मार्च को दक्षिणी मुंबई के रेलवे स्टेशन छत्रपति शिवाजी टर्मिनल के पास एक बड़ा हादसा हुआ। रेलवे स्टेशन के पास स्थित फुटओवर ब्रिज का एक बड़ा हिस्सा ढह गया। जिसमें छह लोगों की मौत हो गई और 29 घायल हो गए। अब तक पांच मृतकों की पहचान अपूर्वा प्रभु (35), रंजना तांबे (40), भक्ति शिंदे (40), जाहिद सिराज खान (32) और तपेंद्र सिंह (35) के रूप में हुई है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

प्रसिद्ध सीएसएमटी स्टेशन के साथ टाइम्स ऑफ इंडिया इमारत के पास वाले इलाके को जोड़ने वाले इस पुल को आम तौर पर ‘कसाब पुल’ के नाम से जाना जाता है।

मौके पर पहुंची आपदा प्रबंधन की टीम

आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के अधिकारी ने बताया कि सभी घायलों को निकटवर्ती अस्पतालों में ले जाया गया है और पुल के बाकि बचे हिस्से को तोड़ दिया गया है।उन्होंने बताया, “दमकल कर्मी तत्काल मौके पर पहुंचे और बचाव कार्य तेजी से चल रहा है। हमने मोटर यात्रियों से डी एन मार्ग से लेकर जे जे फ्लाईओवर तक के रास्ते पर जाने से बचने के लिए कहा है।”

बीएमसी आपदा नियंत्रण ने कहा, "पिछले 18 महीनों में शहर में फुटओवर ब्रिज गिरने गिरने की यह तीसरी घटना है। यह घटना गुरुवार शाम 7.35 पर तब घटी, जब पुल पर जरूरत से ज्यादा लोगों का वजन बढ़ गया।"

प्रत्यक्षदर्शी ने बताई पुल गिरने के बाद की कहानी

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि जब पुल ढहा तब पास के सिग्नल पर लाल बत्ती के चलते ट्रैफिक रुका हुआ था और इसी कारण से ज्यादा मौतें नहीं हुई। वहीं अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि आज सुबह पुल पर मरम्मत कार्य चल रहा था इसके बावजूद इसका इस्तेमाल किया गया।अधिकारी ने बताया कि घटना शाम साढ़े सात बजे हुई जब पुल का अधिकांश हिस्सा गिर गया।

प्रधानमंत्री मोदी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस की घोषणा

प्रधानमंत्री मोदी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने इस घटना के बाद दुख जाहिर किया है। मुख्यमंत्री ने मृतकों को परिजनों के लिए पांच-पांच लाख रुपये देने और घायलों को 50-50 हजार रुपये की सहायता देने की घोषणा की है। उन्होंने गुरुवार को हुई इस घटना की उच्चस्तरीय जांच कराने का भी आदेश दिया है। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने कहा 'मुंबई में फुटओवर ब्रिज हादसे में लोगों की जान जाने से बेहद आहत हूं। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्‍त परिवारों के साथ हैं। घायलों के जल्‍द से जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना करता हूं।

महाराष्ट्र सरकार और BMC कटघरे में

इस घटना के बाद महाराष्ट्र सरकार और BMC कटघरे में आ गई है। राज्य मंत्री विनोद तावड़े ने इस घटना की जांच बीएमसी और रेलवे के संयुक्त टीम से करवाने की बात कही है। वहीं AIMIM के विधायक वारिस पठान ने इस घटना के लिए राज्य सरकार और BMC को जिम्मेदार बताया। कांग्रेस के मिलिंद देवडा ने इस घटना में शामिल लोगों के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज करने की मांग की।

कैसे पड़ा 'कसाब पुल' नाम

छत्रपति शिवाजी टर्मिनल (CST) के पास जिस पुल में हादसा हुआ पहले उसका नाम हिमालया फुटब्रिज था। लेकिन 26/11 में हुए आतंकियों हमले के बाद इसका नाम 'कसाब पुल' पड़ गया। दरअसल 2008 में 26 नवंबर को हमलावर आतंकियों में शामिल अजमल कसाब इसी फुटओवर ब्रिज का इस्तेमाल कर कामा अस्पताल पहुंचा था और वहां पहुंचकर गोलियां बरसाई थीं। तब मुंबई के एक फोटो पत्रकार सेबेस्टियन डिसूजा ने कसाब और उसके साथी इस्माइल खान की फोटो खींची थी। जिसके बाद तमाम पत्रकार ने इसे 'कसाब पुल' कहने लगे और इसी फोटो की मदद से कसाब को सजा मिली।