किसान आंदोलन: किसान ने लाइसेंसी रिवाल्वर से खुद को मारी गोली, सुसाइड नोट भी हुआ बरामद

किसान आंदोलन में बात अब गोलीकांड तक पहुँच चुकी है, बीते दिन सिंधू बॉर्डर में करनाल के सिंगरा निवासी किसान ने खुद को गोली मार ली, जिन्हें अस्पताल में मृत घोषित किया गया है।
किसान आंदोलन: किसान ने लाइसेंसी रिवाल्वर से खुद को मारी गोली, सुसाइड नोट भी हुआ बरामद
kisan andolan suicideGoogle Image

किसान ने खुद को मारी गोली:

दिल्ली के सिंधु बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में उस वक्त अफरातफरी का माहौल हो गया जब यह जानकारी हुई कि एक किसान ने खुद को गोली मार ली है। किसान की पहचान बाबा संतराम सिंह सिंह उम्र लगभग 65 वर्ष के तौर पर हुई। किसान करनाल जिले के सिंगरा का निवासी है और गुरुद्वारा साहिब में ग्रन्थी के तौर पर जाने जाते है, हादसे के बाद घायल किसान को धरने में तैनात डाक्टर को दिखाया गया। हालत ज्यादा खराब होने की वजह से उसी घायल अवस्था मे एक निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया जहां इलाज के के दौरान किसान की मृत्यु हो गयी , पुलिस प्रशासन किसान का शव लेकर पोस्टमार्टम कराने के लिए जद्दोजहद कर रहे है।

सामने आया सुसाइड नोट:

मृतक किसान बाबा संतराम सिंह बीते लगभग तीन हफ़्तों से चल रहे किसान आंदोलन में लगातार आते जाते रहे है। बीते दिन के पहले ही बाबा एक बार फिर आंदोलन में शामिल होने के लिए बोर्डर पहुँचे थे और आंदोलन के दौरान ही अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली, मौत के बाद ही कथित तौर पर बाबा का लिखा हुआ एक सुसाइड नोट भी सामने आया है। जिसमें बाबा ने किसानों के हक की बात कही है और अपनी मौत के लिए कहीं न कहीं सरकार को दोषी ठहराया है। बाबा के अनुसार अपने हक के लिए लड़ना बेहद जायज है। पंजाबी भाषा मे लिखे सुसाइड नोट ने किसान ने जुल्म करना और जुल्म सहना दोनो को एक भयानक अपराध बताया है, सनद रहे कि बीते तीन हफ़्तों से चल राज किसान आंदोलन में अब तक करीब 11 किसान मौत के आगोश में समा चुके है कुछ किसान सर्दी और कुछ पूर्व बीमारियों की वजह से मारे गए है।

नोट: उदय बुलेटिन सुसाइड नोट की सत्यता की पुष्टि नहीं करता

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com