दिल्ली सरकार में आर्थिक संकट, केंद्र से लगाई मदद की गुहार

अगर केजरीवाल सरकार के विज्ञापनों को देखा जाए तो ऐसा नहीं लगता कि दिल्ली सरकार में पैसे का कोई आभाव है। दिल्ली सरकार कोरोना महामारी के दौरान सरकार की उपलब्धियां बताने में हज़ारों करोड़ खर्च कर चुकी है
दिल्ली सरकार में आर्थिक संकट, केंद्र से लगाई मदद की गुहार
Arvind KejriwalGoogle Image

दिल्ली की आम आदमी सरकार के द्वारा दिल्ली राज्य में पैसे की कमी का हवाला देते हुए केंद्र से पैसों की डिमांड की है इस मामले को लेकर दिल्ली राज्य सरकार के मंत्री मनीष शिसौदिया ने पहले केंद्र से मदद की गुहार लगाई इसके बाद बाद दिल्ली सरकार के मंत्री का समर्थन करके मुख्यमंत्री केजरीवाल ने भी हां में हां मिलाते हुए मदद की मांग की, मनीष शिसौदिया ने ट्वीट करते हुए लिखा कि:

"मैंने केंद्रीय वित्त मंत्री को चिट्ठी लिखकर दिल्ली के लिए 5 हज़ार करोड़ रुपए की राशि की माँग की है। कोरोना व लॉकडाउन की वजह से दिल्ली सरकार का टैक्स कलेक्शन क़रीब 85% नीचे चल रहा है। केंद्र की ओर से बाक़ी राज्यों को जारी आपदा राहत कोष से भी कोई राशि दिल्ली को नहीं मिली है"

इसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस पर अपनी मुहर लगाई

हालांकि इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर ही आम आदमी पार्टी को जनता ने खरी-खोटी सुना दी।

लोगों ने अरविंद केजरीवाल के ऊपर राज्य के सरकारी धन को विज्ञापन पर अनावश्यक रूप से खर्च करने के आरोप लगाए, लोगों ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने कोरोना काल मे इलाज और दवाओं की जगह पार्टी के प्रचार प्रसार को तरजीह दी जिसके बाद से दिल्ली में ये हालात पैदा हो चुके है जिसके चलते दिल्ली के कर्मचारियों को वेतन देना मुश्किल हो रहा है।

लोगों ने सरकार को याद दिलाया कि जिस तरह पैसा पानी मे बहाया गया है उसकी जगह तमाम विकल्प मौजूद थे।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com