उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
टॉप न्यूज़

पावर का नशा सबसे ताकतवर होता है, अफीम, चरस, स्मैक, हीरोइन सब जीरो है इसके आगे, इसका ताजा उदाहरण अमेठी में नजर आया 

उप्र के अमेठी जिले के जिलाधिकारी साहब पीड़ित व्यक्ति के साथ अभद्रता करते नजर आए।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

मामला अमेठी में हुए हत्याकांड से संबंधित है जहाँ चौराहे पर खड़े एक व्यक्ति को आपसी रंजिश के तहत भीड़ के बीच अवैध तमंचे से गोली मार कर हत्या कर दी गयी, इसी मामले को लेकर जब मृतक व्यक्ति का भाई अपने भाई की हत्या में पुलिस की लापरवाही को लेकर अपनी जिद पर अड़ा हुआ था तब जिलाधिकारी महोदय मामले को शांत कराने पहुंचे।

सबसे पहले पीड़ित व्यक्ति ने जिलाधिकारी महोदय से अपनी शिकायत में कहा कि मौके से मात्र चंद कदम पर पुलिस पिकेट खड़ी थी लेकिन अपराधियों की हरकत पर नजर न रख सकी, इस पर जिलाधिकारी महोदय भड़क गए और, मृतक के भाई का कालर पकड़ कर बदतमीजी करने लगे, और यह पूंछने लगे कि कौन व्यक्ति कट्टा लेकर खड़ा है इसका पता पुलिस कैसे लगाएगी ?

मामला वायरल हुआ तो उतरा खुमार :

मृतक के भाई और डीएम साहब के बीच हुए इस मामले को किसी व्यक्ति ने मोबाइल के कैमरे पर शूट कर लिया और और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया सब जगह इसकी निंदा होने लगी, साथ ही उत्तर प्रदेश में अफसर शाही का भेद खुल गया, और जब डीएम साहब को इस बारे में आभास हुआ तो पाकिस्तान में बंद कुलभूषण जाधव के जैसे पीड़ित का जबरजस्ती वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर पेश किया, हालाँकि वीडियो को देखकर साफ समझा जा सकता है कि यह वीडियो डरा धमकाकर रिकार्ड कराया गया है, कुछ जगह तो ऐसा लग रहा है कि मृतक के भाई को गन पॉइंट पर लेकर रिकार्ड कराया गया होगा।

मामले के तूल पकड़ने के बाद पीड़ित से ही कन्फेशन कराया: