दिल्ली में अफवाहों का जोर, पर कायम हुआ पुलिस का भरोसा। 

रविवार की शाम होते-होते जहां दिल्ली अपने स्याह हफ्ते को भुलाने की कोशिश कर रही थी तभी दिल्ली के कुछ इलाकों में अफवाहों का बाजार गर्म हो चला।
दिल्ली में अफवाहों का जोर, पर कायम हुआ पुलिस का भरोसा। 
Delhi Violence RumorsGoogle

अफवाहों की वजह से दंगे जैसी स्थिति पैदा होने लगी, ये तो शुक्र रहा कि दिल्ली पुलिस ने सतर्कता भांपते हुए स्थिति को संभाल लिया और लोगों को जानकारी दी कि ऐसा कुछ भी नही है। तब कहीं देर शाम तक माहौल शांत हुआ।

दिल्ली में चालबाजों की कोशिश :

दरअसल अफवाह की शुरुवात दिल्ली पुलिस की धरपकड़ से शुरू हुई, पुलिस को इनपुट मिला कि कुछ सटोरिये सट्टेबाजी को अंजाम दे रहे हैं। इस पर दिल्ली पुलिस ने संदिग्धों की धरपकड़ के लिए ऑपरेशन चलाया। पुलिस को इसमें कुछ अपराधियों के होने की जानकारी भी थी। इसका फायदा उठाकर सोशल मीडिया के जरिये मैसेज वायरल किये जाने लगे कि एक धर्म के लोगों को निशाना बनाया जा रहा है। देर शाम तक इसकी उथल-पुथल इस कदर बढ़ चुकी थी कि दिल्ली मेट्रो को खजूरी खास जैसे अन्य स्टेशनों को अस्थायी तौर पर बंद करना पड़ा।

दिल्ली पुलिस हरकत में आई :

अफवाहों का बाजार गर्म होते ही दिल्ली पुलिस को पीसीआर के लिए कॉल्स का आना शुरू हो गया, इसके मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने अपने अधिकारियों और पुलिसकर्मियों को अधिक सतर्कता बरतने के आदेश दिए और खुद जनता के बीच जाकर यह जानकारी दी कि आप सुरक्षित है। तब कहीं देर रात तक माहौल शान्त हो पाया।

हालात बिगड़ सकते थे :

स्थानीय लोगों की माने तो स्थिति ऐसी हो गयी थी कि दंगे के मद्देनजर लोगों ने अपनी दुकानों के शटर गिरा दिए। राशन खरीद कर सुरक्षित जगहों पर जाने का निश्चय किया गया, कुछ लोगों ने तो घरों पर पत्थर जमा करने भी शुरू कर दिए थे, ये तो दिल्ली पुलिस की मेहनत रंग लाई और अफवाहबाजों का मंसूबा फेल हो गया।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com