Kanhaiya kumar sedition case 
Kanhaiya kumar sedition case |Google
टॉप न्यूज़

दिल्ली सरकार ने कन्हैया कुमार को दिया झटका, मुकदमा चलाने की मंजूरी

दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को दिल्ली पुलिस को JNU के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और अन्य पर 2016 के राजद्रोह मामले में मुकदमा चलाने की मंजूरी दे दी।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

वो कहते है न कि जब मतलब निकल जाए तो आदमी दूध में पड़ी हुई मक्खी के जैसा निकाल कर फेंक देता है। शायद ऐसा ही कुछ कन्हैया कुमार के साथ हो रहा है। देश विरोधी नारों के संबंध में दिल्ली सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी ने कन्हैया कुमार पर मुकदमा चलाने की मंजूरी दे दी है।

मंच से नारे लगाने का है मामला :

दरअसल वामपंथी पार्टी के नेता कन्हैया कुमार इन दिनों संविधान बचाओ, देश बचाओ के नाम से रैलियां कर रहे है, इसी क्रम में कन्हैया कुमार के मंच से भाषण के बाद एक बच्चे के नारे लगाने से मामला जुड़ा हुआ है। जहाँ पटना में रैली में बच्चे ने अपने भाषण के बाद "प्रधानमंत्री मुर्दाबाद" जैसे नारे लगाए। लेकिन इस मामलों के साथ-साथ जेएनयू में लगाए गए नारों को आधार बनाकर कन्हैया कुमार को आरोपी बनाया गया है।

दिल्ली की आम आदमी सरकार का क्या है स्टैंड :

देशद्रोही नारों को लेकर केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की स्पेशल सेल को कन्हैया समेत, उमर खालिद, अर्निबान और अन्य जेएनयू छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा चलाने की मंजूरी दे दी है। केजरीवाल सरकार ने कोर्ट के आदेश पर दिल्ली पुलिस द्वारा जारी किए गए पत्र के आधार पर अपना स्टैंड किलियर कर दिया है। जिसके तहत दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल अब देशद्रोह के मुकदमे की कार्यवाही शुरू करेगी।

क्या बोले कन्हैया कुमार :

इस मामले पर कन्हैया कुमार ने अपनी सफाई में कहा है कि जब उन्होंने किसी प्रकार नारेबाजी न तो खुद की है और न ही इसे करवाने के लिए प्रेरित किया है तो उन्हें किसी भी प्रकार से डरने की जरूरत नहीं है। हालांकि इस बार उनका यह बचाव किसी काम नही आ रहा है। अगर उनके पिछले ट्रैक रिकार्ड को खंगाला जाए तो कन्हैया के ऊपर इससे पहले भी देश विरोधी नारे लगाने और देश के टुकड़े-टुकड़े करने के आरोप लगते रहे है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com